Breaking News

‘जय श्री राम’ के नारे से खफा मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंच साझा करने से किया इनकार

पश्चिम बंगाल की पहली (West Bengal’s First) वंदे भारत एक्सप्रेस के उद्घाटन समारोह में (Inauguration Ceremony of Vande Bharat Express) ‘जय श्री राम’ के नारों से खफा (Upset over ‘Jai Shri Ram’ Slogan) मुख्यमंत्री (Chief Minister) ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने मंच साझा करने से इनकार कर दिया (Refused to Share the Stage) । वह पूरे कार्यक्रम के दौरान मंच से सटी एक कुर्सी पर बैठी रहीं । यहां से उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन मोदी के निधन पर शोक व्यक्त किया।

शुक्रवार सुबह जैसे ही मुख्यमंत्री हावड़ा स्टेशन के उद्घाटन स्थल पर पहुंचीं, वहां मौजूद बीजेपी समर्थकों ने ‘जय श्री राम’ के नारे लगाए। मंच पर मौजूद केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने तब भाजपा समर्थकों को नियंत्रित करने की पूरी कोशिश की और उनसे नारेबाजी करने से परहेज करने का अनुरोध किया। रेल मंत्री मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बार-बार मंच पर बैठने की गुहार लगाते दिखे, लेकिन मुख्यमंत्री ने मंच पर आने से इनकार कर दिया। जल्द ही राज्य के राज्यपाल सी.वी. आनंद बोस कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे और मुख्यमंत्री के साथ बातचीत करते देखे गए। शुरूआत में ममता ने भाषण देने से भी इनकार कर दिया, लेकिन राज्यपाल के बार-बार अनुरोध के बाद वह भाषण के लिए तैयार हो गईं, जो उन्होंने मंच पर आए बिना दिया।

यह पहली बार नहीं है जब मुख्यमंत्री ने ‘जय श्री राम’ के नारे लगाने पर आपत्ति जताई है। 23 जनवरी 2021 को कोलकाता के विक्टोरिया मेमोरियल हॉल में नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती के मौके पर भाजपा समर्थकों ने नारेबाजी की। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य केंद्रीय मंत्री मौजूद थे। उस समय मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी भी सरकारी कार्यक्रम को कुछ मयार्दाओं का पालन करना चाहिए। इस तरह के एक समारोह में किसी भी आमंत्रित व्यक्ति का अपमान करना नासमझी है। इसलिए विरोध में मैं यहां कुछ भी कहने से इनकार करती हूं।

इस बीच शुक्रवार की सुबह इस घटनाक्रम को लेकर सियासी घमासान शुरू हो गया। राज्य के नगरपालिका मामलों और शहरी विकास मंत्री और कोलकाता नगर निगम के मेयर फिरहाद हकीम ने कहा, जय श्री राम मंदिर या घर में शुद्ध मन से कहा जाना चाहिए, लेकिन भाजपा समर्थक इस नारे का इस्तेमाल हमारे मुख्यमंत्री को चिढ़ाने के लिए कर रहे हैं। अगर हम चाहते तो उन्हें तुरंत रोक सकते थे, लेकिन हम राजनीतिक शिष्टाचार में विश्वास करते हैं।’

भाजपा की लोकसभा सदस्य लॉकेट चटर्जी ने कहा कि वंदे भारत एक्सप्रेस का उद्घाटन करने के लिए जब प्रधानमंत्री ऑनलाइन दिखाई दिए तो जय श्री राम के नारे लगे। उन्होंने कहा, नारे मुख्यमंत्री को परेशान करने के लिए नहीं लगाए गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *