Breaking News

चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग ने किया युद्ध का ऐलान? सैनिकों को दिए ये बड़े आदेश, हाई अलर्ट पर सेना

चीन (China) के खुरापाती दिमाग से पूरी दुनिया वाकिफ हो चुकी है. पीठ पीछे छूरा घोपने वाला चीन किस हद तक जा सकता है, ये किसी से छिपा नहीं है. दूसरे देशों को हथियाने के लिए चीन क्या कुछ कर सकता है, ये रूप उसकी पूरी दुनिया देख चुकी है. लेकिन इन दिनों अपने मकसद में कामयाबी न मिलने की वजह से चीन जैसे बौखला गया है. शायद यही कारण है कि, हाल ही में चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग (Chinese President Xi Jinping) ने देश की सेनाओं को युद्ध के लिए तैयार रहने का आदेश दे दिया है. या यूं कहें कि जंग का ऐलान कर दिया है! बताया जा रहा है कि, ये बात जिनपिंग ने उस दौरान कही जब वो, चीन के गुआंगडोंग इलाके में एक सैन्य अड्डे के दौरे पर निकले थे. इस दौरान राष्ट्रपति ने सैनिकों को युद्ध के लिए तैयार रहने और साथ ही हाई अलर्ट के मोड़ में रहने को कहा है.

हाल ही में साउथ चाइना की ओर से जारी की गई एक रिपोर्ट की माने तो, शी जिनपिंग ने हालिया बयान में सैनिकों (Chinese army) से स्पष्ट तौर पर ये बात कही है कि, ‘आपको अपना दिमाग और पूरी ताकत युद्ध की तैयारी में लगाना चाहिए. इसके साथ ही आप लोगों को अपनी ट्रेनिंग में जंग की तैयारी पर खास फोकस करना चाहिए. इसलिए अपनी ट्रेनिंग के साथ मानकों और लड़ाकू की ताकत को बढ़ाएं.’ बता दें कि इन-दिनों भारत और चीन के बीच चल रहा विवाद अपने चरम पर हैं. दोनों देशों के बीच छिड़े इस विवाद को 6 महीने होने को आए हैं. दोनों देशों की ओर से ऊंचाई वाले इलाकों में तकरीबन एक लाख सैनिक तैनात किए गए हैं.

कहा जा रहा है कि ये सैनिक, लंबी लड़ाई में डटे रहने की तैयारी में जुटे हुए हैं. गौरतलब है कि, भारतीय सैनिकों (Indian soldiers) की ओर से 29 और 30 अगस्त की रात पैंगोंग नदी से लेकर दक्षिणी किनारे स्थित रणनीतिक रूप से कई मुख्य ऊंचाइयों पर कब्जा जमा लिया गया था. इसके बाद से वहां पर भारतीय सैनिकों के हालात पहले से भी ज्यादा मजबूत हो गए हैं. इतना ही नहीं, भारतीय जवानों ने चीनी सेना का जवाब उसी की भाषा में देते हुए सीमा पर टैंक समेत कई भारी-भरकम अस्त्र-शस्त्र तैनात कर दिए हैं. इसी के साथ ही इन इलाकों में ईंधन, भोजन और सर्दियों में काम आने वाली चीजों की भी पूरी व्यवस्था कर ली गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *