Breaking News

चार राज्यों के विधानसभा चुनाव को लेकर किए गए सर्वे में बीजेपी को फायदा होने पर भड़कीं मायावती

 बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने महंगाई के मुद्दे पर उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार को घेरा है. पार्टी की तरफ से जारी बयान में उन्होंने कहा है कि कोरोना प्रकोप और अर्थव्यवस्था की 1991 जैसी जबरदस्त हुई बदहाली के कारण पूरे देश में व्याप्त महंगाई, गरीबी और बेरोजगारी की मार ने काफी लंबे समय से यहां के लोगों का जीवन त्रस्त करके रख दिया है. इससे भारतीय जनता पार्टी के प्रति जन आक्रोश व्याप्त हो गया है. उन्होंने एक चैनल द्वारा कराए गए सर्वे में बीजेपी को सबसे ज्यादा सीटें जीता हुआ दिखाने पर आक्रोश जाहिर किया है.


बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी का रेटिंग ग्राफ काफी ज्यादा गिरा है. ऐसे समय में एक हिंदी न्यूज चैनल ने यूपी के इस बार विधानसभा का आम चुनाव होने पर भाजपा का वोट प्रतिशत पिछली बार की तुलना में अधिक दिखाया है. उसका प्री पोल सर्वे प्रायोजित ही नहीं बल्कि लोगों को यह हवा-हवाई शरारत पूर्ण और भ्रमित करने वाला लगता है.

उन्होंने कहा कि इस संदर्भ में सी वोटर्स के आम चुनाव के सर्वे पर हमारी पार्टी का यह मानना है कि इनका यह सर्वे वैसे ही गले के नीचे से नहीं उतर पा रहा है, जिस प्रकार से यहां साल 2007 के हुए विधानसभा चुनाव में बीएसपी के पक्ष में जबरदस्त माहौल होने के बावजूद, उस समय हर प्री पोल सर्वे पक्षपाती और बीएसपी की सरकार बनाने की बात कबूल कर लेने के बजाय केवल हमारी पार्टी को सिंगल लार्जेस्ट पार्टी बनकर उभरने की ही बात कर रहा था. उस चुनाव में रिजल्ट आने पर बीएसपी की पूर्ण बहुमत की सरकार बनी थी, इसलिए वर्तमान के इस प्री पोल सर्वे को भी पूर्णतया हवा-हवाई शरारत पूर्ण और भ्रामक ही कहा जाएगा.

बसपा अध्यक्ष मायावती ने कहा कि इस सर्वे का खास मकसद भाजपा को मजबूत दिखाते रहने से ज्यादा, बीएसपी के लोगों का मनोबल गिराना ही लगता है. यह मालूम होना चाहिए कि बीएसपी के लोग पहले से ही इस प्रकार के षड्यंत्र का सामना करने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं. इस सर्वे के बहकावे में बिल्कुल भी आने वाले नहीं हैं, बल्कि इस सर्वे की चुनौती को स्वीकार करते हुए अब वे और भी ज्यादा जीत, जोश, हिम्मत और मेहनत से काम करेंगे. मुझे अपने लोगों के ऊपर पूरा भरोसा है.

अगले वर्ष 2022 में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, मणिपुर और पंजाब में विधानसभा चुनाव होने हैं, जिनमें से चार राज्यों में भाजपा के पक्ष में माहौल दिख रहा है, जहां वह सरकार बना सकती है. एबीपी-सीवोटर-आईएएनएस बैटल फॉर द स्टेट्स – वेव 1 के दौरान चुनावी राज्यों के मतदाताओं से ली गई राय में यह सामने आया है. भाजपा उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में अन्य पार्टियों से आगे नजर आ रही है. वहीं आम आदमी पार्टी (आप) वर्तमान में पंजाब में सबसे बड़ी पार्टी के रूप में आगे चल रही है, जो बहुमत से थोड़ी पीछे दिखाई दी है. आप पंजाब, गोवा और उत्तराखंड में एक प्रमुख चुनौती या करीबी तीसरे पक्ष के रूप में उभरी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *