Breaking News

ग्रीस: पोप फ्रांसिस का बुजुर्ग पादरी ने किया विरोध, कहा आप विधर्मी हैं

ग्रीस की यात्रा पर गए पोप फ्रांसिस (Pope Francis) को शनिवार को भारी विरोध का सामना करना पड़ा. एक बुजुर्ग पादरी ने उनका उस वक्त विरोध किया, जब वो देश के ऑर्थोडॉक्स चर्च के प्रमुख से मुलाकात करने के लिए पहुंचे थे. पोप के खिलाफ नारेबाजी करने वाला पादरी ईसाई समुदाय के ऑर्थोडॉक्स चर्च से संबंधित था. ग्रीस की राजधानी एथेंस में पोप आर्कबिशप इरोनिमोस के आवास के बाहर जब अपनी कार से उतर रहे थे तभी पादरी ने उनके खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी.

बुजुर्ग पादरी ने चिल्लाकर कहा, ‘पोप, आप एक विधर्मी हैं!’ इसके तुरंत बाद वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने बुजुर्ग पादरी को वहां से हटा दिया. पोप फ्रांसिस ने संभवत: इस ओर ध्यान नहीं दिया और वो सीधे ऑर्थोडॉक्स चर्च के प्रमुख से निजी मुलाकात करने के लिए निर्धारित स्थान की ओर बढ़ चले. बता दें कि इससे पहले साइप्रस द्वीप पर भी उनका विरोध हुआ था.

20 साल बाद ग्रीस की यात्रा
फ्रांसिस की यात्रा के दौरान, दो चर्चों के नेताओं ने सदियों के अविश्वास और प्रभाव के लिए प्रतिस्पर्धा को दूर करने के वादे पर चर्चा की. इरोनिमोस ने फ्रांसिस का ‘सम्मान और बंधुत्व की भावनाट के साथ स्वागत किया. 20 साल के बाद फ्रांसिस ग्रीस की राजकीय यात्रा पर गए हैं.

 ‘पर्यावरण की रक्षा जरूरी’
पोप फ्रांसिस ने शनिवार को आगाह किया कि लोकलुभावनवाद और अधिनायकवाद के ‘आसान जवाब’ यूरोप में लोकतंत्र के लिए खतरा है और उन्होंने साझा हित को बढ़ावा देने के लिए नए सिरे से समर्पण दिखाने का आह्वान किया. पोप ने लोकतंत्र के जन्मस्थल ग्रीस में राजनीतिक और सांस्कृतिक नेताओं को संबोधित करते हुए कहा कि केवल मजबूत बहुपक्षवाद ही पर्यावरण की रक्षा करने से लेकर महामारी और गरीबी तक के मुद्दों को सफलतापूर्वक हल कर सकता है.उन्होंने शनिवार को एथेंस पहुंचने के बाद कहा, ‘राजनीति में निजी हितों के मुकाबले साझा जरूरतों को आगे रखने के लिए इसकी जरूरत है। फिर हम इसे नजरअंदाज नहीं कर सकते कि कैसे आज और न केवल यूरोप में बल्कि अन्य जगहों पर हम लोकतंत्र से पीछे हटते हुए देख रहे हैं.’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *