Breaking News

गणेश चतुर्थी पर चंद्रमा को देखने से लगता है ये दोष, कैसे बचें और क्या है उपाय

गणेश चतुर्थी के दिन से गणेशोत्‍सव (Ganeshotsav) शुरू हो जाता है। इस बार गणेश चतुर्थी शुक्रवार, 10 सितंबर 2021 को मनाया जायेगा। इस दिन हर घर में गणपति (Ganpati) पधारते और विराजते हैं। ऐसी मान्यता है कि गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi 2021) के दिन चंद्रमा (Moon) न देखें। धर्म-पुराणों में इस दिन चंद्र दर्शन (Chandra Darshan) को वर्जित माना गया है। कहा जाता है अगर इस दिन चंद्र दर्शन किया जाये तो दोष लगता है। अगर गलती से चंद्रमा देख लें तो उससे लगने वाले दोष (Dosh) से बचने के लिए व्‍यक्ति को उपाय (Remedy) कर लेना चाहिए।

इसलिए नहीं करना चाहिए चंद्र दर्शन

गणेश चतुर्थी के दिन चंद्र दर्शन न करने की वजह एक कथा में बताया गया है। इस कथा के अनुसार जब चतुर्थी के दिन भगवान गणेश (Lord Ganesha) को हाथी का मस्तक लगाया गया और वे उसके बाद पृथ्वी की परिक्रमा करके प्रथम पूज्य कहलाए तो सारे देवी-देवताओं ने उनकी वंदना की मगर चंद्र देव ने नहीं किया। चंद्रमा को अपने रूप-रंग पर घमंड था। इसी बात से नाराज होकर गणपति ने उन्‍हें श्राप दिया कि आज से तुम काले हो जाओगे। इस पर चंद्र देव बहुत घबरा गए और उन्‍होंने गणेश जी से क्षमा मांगी। तब भगवान ने कहा कि जैसे-जैसे सूर्य की किरणें फिर से चंद्रमा पर पड़ेंगी उनकी आभा फिर से आ जाएगी। तब से ही गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) के दिन चंद्र दर्शन (Chandra Darshan) करना मना है, अगर कोई गलती से भी ऐसा कर ले तो उसे पाप लगता है साथ ही ये भी माना जाता है कि उस पर भविष्‍य में कोई बड़ा आरोप भी लग जाता है।

ऐसे दूर करें दोष

अगर गलती से गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) पर चंद्रमा देख लें तो इसके दोष से बचने के लिए पूरे भक्ति-भाव से ‘सिंह: प्रसेन मण्वधीत्सिंहो जाम्बवता हत:। सुकुमार मा रोदीस्तव ह्येष: स्यमन्तक:।।’ इस मंत्र का जाप जरूर करें। ऐसा करने से चंद्र दोष का बुरा प्रभाव व्‍यक्ति पर नहीं पड़ता है। इस मंत्र का जाप उन लोगों के लिए भी लाभकारी होगा जिन पर किसी ने झूठा आरोप लगा दिया है। इस मंत्र का रोज 108 बार जाप करने से व्‍यक्ति आरोप से मुक्‍त हो जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *