Breaking News

खाई में गिरी बस, 6 लोगों की मौत, 45 घायल

इंदौर में जिले भीषण सड़क हादसा (horrific road accident) हो गया। सिमरोल थाना क्षेत्र (Simrol police station area) में भैरव घाट (Bhairav ​​Ghat) पर गुरुवार को खंडवा जा रही एक बस अनियंत्रित होकर पलट (bus overturned uncontrollably) गई और खाई (fell into the ditch) में जा गिरी। इस हादसे में छह लोगों की मौत हो गई है, जबकि करीब 45 लोग घायल हुए हैं। पुलिस ने घायलों को अस्पताल पहुंचाया और शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हादसे पर दुख व्यक्त करते हुए मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देने का ऐलान किया है।

सिमरोल थाना प्रभारी आरएस भदौरिया ने बताया कि इंदौर से खंडवा के लिए रवाना हुई महाकाल ट्रैवल्स की बस गुरुवार को शाम करीब 4 बजे भैरव घाट पर अनियंत्रित होकर पलटी खाते हुए 50 फुट गहरी खाई में जा गिरी। राहगीरों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और एम्बुलेंस 108 के माध्यम से घायलों को अस्पताल पहुंचाया। बस में 50-60 यात्री सवार थे। हादसे में पांच लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि एक घायल ने अस्पताल ले जाते समय दम तोड़ दिया। हादसे में करीब 45 यात्री घायल हुए हैं, जिनमें से 10 को प्राथमिक उपचार के बाद इंदौर के एमवाय अस्पताल में भर्ती किया गया है।

बताया जा रहा है कि हादसे के वक्त बस तेज स्पीड में थी। ओवर टेक के चक्कर में हादसा हुआ है। प्रत्यक्षदर्शी के अनुसार चालक ने स्पीड कम नहीं की और ओवरटेक करने में बस असंतुलित होकर 50 फुट गहरी खाई में जा गिरी। इस दौरान आसपास के रहवासी और ग्रामवासी मौके पर पहुंचे और यात्रियों को घाट से ऊपर लाने का प्रयास किया गया। इसके बाद 108 एंबुलेंस सहित पुलिस मौके पर पहुंच गई। घायलों को आसपास के अस्पताल भेजा गया। हादसे के बाद सड़क पर लम्बा जाम लग गया। दोनों ओर वाहनों की लंबी लाइन लग गई थी।

मृतकों एवं घायलों को सहायता
दुर्घटना की सूचना मिलते ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर दुख प्रकट किया। उन्होंने हादसे में मृतकों को चार-चार लाख और घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देने की घोषणा की। उन्होंने दुर्घटना में हताहत हुए यात्रियों के बेहतर से बेहतर उपचार के निर्देश जिला प्रशासन को दिए हैं। साथ ही घटनास्थल पर पहुंचे कलेक्टर मनीष सिंह से उन्होंने मोबाइल पर पूरी जानकारी ली और निर्देश दिए कि इस दुर्घटना में दोषियों की पहचान करें और उनके खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित करें। मुख्यमंत्री ने कलेक्टर को निर्देश दिए कि वे स्वयं अपनी निगरानी में घटना में घायल यात्रियों का बेहतर से बेहतर उपचार कराएं।

कलेक्टर ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि सभी घायलों का निशुल्क और समुचित उपचार सुनिश्चित किया जा रहा है।

कलेक्टर मनीष सिंह ने बताया कि मृतकों में प्रमिला पत्नी राजकुमार उम्र 27 साल निवासी बिलासपुर (छत्तीसगढ़), झरोखा बाई पत्नी लक्ष्मण शिंदे उम्र 60 साल निवासी ग्राम कोटलाखेड़ी थाना सनावद जिला खरगोन, नटू पुत्र गंगाराम करोले उम्र 65 साल निवासी मोरगढ़ी थाना मांधाता जिला खंडवा के अलावा एक अज्ञात महिला उम्र करीब 34 साल और अज्ञात पुरुष उम्र करीब 45 साल निवासी शामिल हैं।

हादसे में यह हुए घायल

गिरीराम पुत्र नरेंन्द्र उम्र 26 साल निवासी खरगोन, सरस्वती पुत्री अजय उम्र 9 साल निवासी अज्ञात, आशुतोष पुत्र संतोष यादव उम्र 17 साल निवासी बडवाह, राजकुमार पुत्र तेजराम उम्र 60 साल निवासी विकास पुरा, अजय पुत्र मिश्रीलाल बंजारा निवासी बिलासपुर (छग), परवेज पुत्र कयुमखान उम्र 42 साल निवासी पंचशील नगर इन्दौर, बद्री पुत्र शिवराम पवार उम्र 48 साल नि. ग्राम जमनिया थाना भीकनगांव, शेख इकबाल पुत्र शेख बाबु उम्र 32 साल निवासी गुलाब कुआ खण्डवा, बालू पुत्र अनारसिंह बामने उम्र 34 साल निवासी प्रताप कुण्डिया नेपानगर, राहुल पुत्र चेतराम उम्र 21 साल निवासी गरबाडा बडवाह, सारिका पुत्री राहुल उम्र 11 साल निवासी सदर, सपना पत्नी राहुल उम्र 20 साल निवासी सदर, प्रकाश पुत्र मोतीराम उम्र 39 साल निवासी बडगांव जिला खरगोन, तस्लीम पुत्र हनाम उम्र 37 साल निवासी गनबाजार खण्डवा, साहिदा पत्नी हनाव उम्र 40 साल निवासी खासपुरा, खण्डवा, हीरालाल पुत्र बद्री उम्र 20 साल निवासी लालबेडा खरगोन, संजूबाई पत्नी बाबू उम्र 25 साल निवासी बुरहानपुर, अब्दुल रसीद पुत्र शेख कादर उम्र 70 साल निवासी राहत नगर खण्डवा, भाईराम पुत्र जीबाजी उम्र 65 साल निवासी वार्ड नं.17 सनावद खरगोन, नीतू पुत्र तेजमल उम्र 20 साल निवासी मांचलपुर, पूर्णिमा पत्नी देवसिंह डोरिया उम्र 25 साल निवासी अमरताल थाना अगरतला, रिबान पुत्र देवसिंह डेरिया उम्र एक वर्ष निवासी सदर, सविता पत्नी संजय बंजारे उम्र 22 साल निवासी बिलासपुर, आयुष पुत्र राजकुमार उम्र 5 साल निवासी सदर, सीमा पत्नी अजय उम्र 27 साल निवासी बिलासपुर (छत्तीसगढ़), सुरेखा पुत्र बबलू उदयसिंह उम्र 8 साल निवासी अमरताल थाना अगरतला, आलिया पुत्री राजकुमार उम्र 9 साल निवासी बिरगन्डी, साधना पुत्र अजय उम्र 3 साल निवासी बिलासपुर, आशीष पुत्र अजय उम्र 5 साल निवासी बिलासपुर, खुसी पुत्र नानसिंह उम्र 12 साल निवासी ग्राम कोठा जिला खरगोन, बढ़ी पुत्र जयसिंह गोलकर उम्र 30 साल निवासी अकोडा जिला खरगोन, विकास पुत्र नानसिंह उम्र 8 साल निवासी कोठा जिला खरगोन, भूरीबाई पत्नी नानसिंह उम्र 35 साल निवासी सदर, रामअवतार पुत्र प्रेमसिंह उम्र 40 साल निवासी स्नेहनगर इंदौर, रामकुमार पुत्र दशरथराम उम्र 25 साल निवासी बिलासपुर, साकिब पुत्र रफिक उम्र 24 साल निवासी खानसावली खरगोन, रेशमा पत्नी जावेद खान उम्र 22 साल निवासी खजराना इंदौर, गब्बर पुत्र गगन उम्र 32 साल निवासी निमड़ कानड, गरीमा पुत्री गब्बर उम्र 14 साल निवासी सदर, करण पुत्र बिलतु उम्र 20 साल निवासी पिपल्याहाना इंदौर, रेशमा पत्नी जावेद उम्र 22 साल निवासी खजराना इंदौर. अखिलेश पुत्र मिनाराम उम्र 60 साल निवासी बडसैली खरगोन, रोहित पुत्र रोशन उम्र 8 साल निवासी अकोडा बुरहानपुर, ममता पत्नी नारायण उम्र 30 साल निवासी विराट नगर मुसाखेडी इंदौर के साथ दो अज्ञात भी घायल हैं।

घायलों की जानकारी लेने पहुंचे मंत्री
घटना की जानकारी मिलने पर जलसंसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट और पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर एमवाय अस्पताल पहुंचे और यहां मौजूद कलेक्टर मनीष सिंह और पुलिस कमिश्नर हरिनारायण चारी मिश्र से घायलों के इलाज के संबंध में जानकारी ली।

इस हादसे की जानकारी कांग्रेस के महापौर उम्मीदवार संजय शुक्ला और भाजपा के महापौर उम्मीदवार पुष्पमित्र भार्गव को लगी तो वे अपना जनसम्पर्क छोड़ कर एमवाय अस्पताल पहुंचे। यहां बस हादसे में मृतक और घायलों के परिजनों से मिलकर उन्हें ढांढस बंधाया और डाक्टरों से भी उनके इलाज के संबंध में चर्चा की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *