Breaking News

कोरोना ने चली डरावनी चाल तो लौटे पुराने दिन: पलायन में लगातार बढ़ोतरी, बड़ी संख्या में घर लौट रहे मजदूर

कोरोना की ताज़ा लहर के कारण देश में हालात बद से बदतर होते दिख रहे हैं. हर दिन कोरोना के मामलों की संख्या बढ़ रही है, अस्पतालों में मरीज़ों की संख्या भी बढ़ रही है. इस बीच राज्य सरकारें फिर से लॉकडाउन समेत कई पाबंदियां लगाने पर मजबूर हो गई हैं. पाबंदियों के बीच कामकाज पर असर पड़ रहा है और फिर एक बार देश के कई हिस्सों से मज़दूरों का पलायन शुरू हो गया है.

दिल्ली से मज़दूरों की हो रही घर वापसी

दिल्ली में लगातार कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी के बीच प्रवासी मज़दूरों का पलायन जारी है. बीते दिन में भी दिल्ली के आनंद विहार बस स्टेशन पर मज़दूरों की भारी भीड़ दिखी और हर कोई अपने घर लौटना चाहता है. वापस जाने वाले मज़दूरों का कहना है कि जैसे कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं, ऐसे में लॉकडाउन लग सकता है इसलिए बेहतर है कि हम पहले ही घर चले जाएं.

बता दें कि दिल्ली में कई दिनों से यही नज़ारा देखने को मिल रहा है, फिर चाहे वो बस स्टेशन हो या फिर रेलवे स्टेशन, मज़दूर बड़ी संख्या में अपने घरों की और लौट रहे हैं.

महाराष्ट्र में हालात बदतर, लॉकडाउन का डर

महाराष्ट्र में तो कोरोना का संकट सिर के ऊपर चला गया है और हालात अब हाथ से निकलते दिख रहे हैं. यही कारण है कि राज्य में नाइट कर्फ्यू, वीकेंड लॉकडाउन के बाद भी संपूर्ण लॉकडाउन का खतरा मंडरा रहा है. इसलिए प्रवासी मज़दूर बड़ी संख्या में यहां से वापस अपने गांव जा रहे हैं. मुंबई के रेलवे स्टेशन पर बड़ी संख्या में मजदूरों की भीड़ है, जो यूपी-बिहार वापसी की राह देख रहे हैं.

सिर्फ मुंबई ही नहीं, बल्कि पुणे, नासिक, नागपुर से भी ऐसी ही खबरें आ रही हैं. जानकारी के मुताबिक, धारावी से ही करीब 25 हज़ार मज़दूर वापसी कर चुके हैं.

बड़ी संख्या में झारखंड भी लौट रहे मज़दूर

महाराष्ट्र से झारखंड वापसी करने वाले मज़दूरों की संख्या भी काफी ज्यादा है. बीते दिन मुंबई से रांची बड़ी संख्या में मज़दूर ट्रेनों में भरकर पहुंचे. रांची पहुंचे प्रवासियों ने बताया कि जहां हम लोग काम कर रहे थे, वो बंद हो गया तो बाकी काम करने वाले अपने अपने घरों को चले गए तो हमलोग भी अपने घर को चल दिए. रांची स्टेशन पहुंचे सभी यात्रियों की कोविड-19 जांच करने की व्यवस्था प्रशासन द्वारा स्टेशन पर की गई थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *