Breaking News

कुछ ‘मूर्ख उदारवादी’ ही नवाज़ शरीफ के नजरिये का कर रहे हैं समर्थन…, पाक PM ने भारत पर लगाया ये आरोप

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का आरोप है कि भारत पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को हथियार बनाकर पाकिस्तानी सेना को कमजोर करने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने कहा कि नवाज शरीफ सेना पर राजनीतिक दखल देने का गंभीर आरोप लगाकर अपने ही देश में एक खतरनाक सियासी खेल खेल रहे हैं और उन्हें इसमें भारत का समर्थन मिल रहा है।

इमरान खान ने दावा किया कि उनकी सरकार और सेना के बीच अबतक का सबसे बेहतरीन तालमेल और रिश्ता है। उनका दावा है कि देश की सभी संस्थाएं अपनी अपनी सीमा में रहते हुए एक दूसरे से तालमेल बनाकर चल रही हैं। इमरान खान ने कहा है कि नवाज शरीफ एक खतरनाक खेल खेल रहे हैं, ऐसा ही अल्ताफ हुसैन ने किया था।

इमरान ने कहा कि उन्हें सौ फीसदी भरोसा है कि पीएमएल –एन के नेता को भारत मदद कर रहा है। इमरान ने कहा कि पाकिस्तान की सेना को कमजोर करना आखिर किसका मकसद हो सकता है? जाहिर है, हमारे दुश्मनों का। कुछ ‘मूर्ख उदारवादी’ ही नवाज़ के नजरिये का समर्थन करते हैं।

लीबिया, सीरिया, इराक, अफगानिस्तान और यमन की मिसाल देते हुए इमरान ने कहा कि अगर हमारी सेना इतनी मजबूत नहीं होती तो हमारा मुल्क भी तीन हिस्सों में बंट जाता। भारत के थिंक टैंक पाकिस्तान को तोड़ना चाहते हैं। नवाज शरीफ को कायर बताते हुए इमरान ने उनकी तुलना मुत्ताहिदा कौमी मूवमेंट (एमक्यूएम) के नेता अल्ताफ हुसैन से की जो लंदन में रहकर पाकिस्तानी सेना के खिलाफ आग उगलते हैं और जिनके वीडियो या ऑडियो पर पाकिस्तान में पाबंदी लगा दी गई है।

इमरान ने नवाज के बीमारी के नाम पर झूठ बोलकर और सरकार को धोखा देकर लंदन भाग जाने पर गहरी नाराजगी जताते हुए कहा कि वो वहां बैठकर अपने देश के खिलाफ सियासत कर रहे हैं। उन्हें वापस लाने के लिए पाकिस्तान सरकार ब्रिटिश सरकार से बात कर रही है।

गौरतलब है कि नवाज शरीफ के भाई शाहबाज को मनी लांड्रिंग के मामले में गिरफ्तार किया जा चुका है और इससे बौखलाए नवाज शरीफ ने इमरान खान को सेना प्रमुख बाजवा की कठपुतली बताया था। उन्होंने एक इंटरव्यू में इमरान खान को नाकाबिल और सेना का रबर स्टांप बताया था और आरोप लगाया था कि सरकार के तमाम अहम फैसले सेना मुख्यालय में लिए जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *