Breaking News

ऐतिहासिक दिन पर हुआ रामलला का भूमि पूजन, अयोध्या नगरी में PM मोदी ने लिया यह बड़ा प्रण!

5 अगस्त 2020 की तारीख आज इतिहास के पन्नों में दर्ज हो गई है, चूंकि आज के शुभवसर पर प्रभु श्री राम की नगरी अयोध्या में राम मंदिर का शिलान्यास किया गया। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी समेत विशिष्‍ट अतिथि मौजूद रहे। पूरी अयोध्या नगरी जगमगा उठी है. चारों और दीपक जलाए गए साथ ही राम मंदिर निर्माण की नींव भी रखी गयी। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में यह भूमि पूजन सफल रहा। इस दौरान पूरी अयोध्या नगरी में जय श्री राम के नारे गूंज रहे थे। बता दें कि कोरोना संकट को ध्यान में रखते हुए कुल 175 अतिथियों को निमंत्रण दिया गया था। हालांकि उम्मीद थी कि अधिक लोगों को भूमि पूजन में बुलाया जाएगा, लेकिन कोरोना काल के चलते कम भीड़ देखी गई। खैर कोई बात नहीं राम भक्त इससे ही संतुष्ट हैं कि प्रभु श्री राम मंदिर का भव्य निर्माण होने जा रहा है। वर्षों की तमन्ना आज पूरी हो सकी है।

 

भूमि पूजन स्थल पर जाने से पहले पीएम मोदी ने हनुमानगढ़ी मंदिर में पारंपरिक तरीके से पूजा-पाठ किया। चूंकि मंदिर के महंत कहते थे हैं कि रामलला के दर्शन से पहले हनुमानगढ़ी मंदिर में पूजा करने की परंपरा है। ऐसा करने से सब

काम शुभ होते हैं, इसलिए पीएम मोदी पहले हनुमानगढ़ी दर्शन करने पहुंचे। इस दौरान हनुमानगढ़ी मंदिर में प्रमुख पुजारी श्री गद्दीनशीन प्रेमदास महाराज ने प्रधानमंत्री मोदी को पगड़ी, चांदी का मुकुट और पारंपरिक स्टॉल पहनाया।

500 वर्षों का इंतजार आज जब पूरा हुआ तो राम भक्‍तों का उत्‍साह देखने लायक था। रामलला की घर वापसी, उनके मंदिर का निर्माण, राम भक्‍तों के लिए ये पल अनंत उत्‍साह का कारण हैं। देश और दुनिया में इस कार्यक्रम का सीधा

प्रसारण करोड़ों भक्‍तों ने देखा। इस कार्यक्रम को लेकर बनाए गए मंच पर पीएम मोदी, यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत और श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष नृत्य गोपाल दास समेत केवल पांच लोग ही हैं।

कोराना के कारण प्रधानमंत्री मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का ध्‍यान रखते हुए नजर आए। भूमि पूजन के दौरान भी सोशल डिस्‍टेंसिंग का पूरा ख्याल रखा गया। सभी दूर-दूर बैठे हुए नजर आए। बहरहाल आज से विधिवत रूप से राम मंदिर के निर्माण का कार्य शुरू हो गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि ‘राम काजु कीन्हें बिनु मोहि कहां विश्राम’, और इस तरह उन्होंने कह दिया कि वो राम मंदिर के लिए कई-कई सालों से चल रहा उनका इंतजार आज पूरा हो गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *