Breaking News

एनकाउंटर में मारा गया 50 हज़ार का ईनामी बदमाश विनय श्रोत्रिय

उत्तर प्रदेश के आगरा में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। लंबे समय से फरार माफिया विनय श्रोत्रिय को पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया। बुधवार सुबह एसटीएफ और फरार बदमाश विनय श्रोत्रिय के बीच मुठभेड़ हुई। दोनों तरफ से जमकर गोलियां चलीं। कई राउंड की फायरिंग के बाद पुलिस ने एनकाउंटर में विनय श्रोत्रिय को मार गिराया। उसके पास से एक पिस्टल और एक तमंचा बरामद किया गया है। बताया गया कि श्रोत्रिय पुलिस कस्टडी से फरार हुआ था। उसे पेशी पर दीवानी न्यायालय ले जाया गया था जहां से कुख्यात बदमाश पुलिस को झांसा देकर भाग गया था।
श्रोत्रिय पर 50 से ज्यादा मुकदमे दर्ज हैं। जानकारी के मुताबिक श्रोत्रिय को फिरोजाबाद के लाइन पार थाना इलाके की जिला जेल में 13 जुलाई 2022 को दीवानी में पेशी के लिए लाया गया था जहां से वह सिपाही को गच्चा देकर अपने साथियों के साथ बाइक पर बैठकर फरार हो गया था। पुलिस के साथ-साथ एसटीएफ भी उसकी तलाश में जुटी थी। बुधवार सुबह पुलिस को सूचना मिली कि विनय श्रोत्रिय अपने साथी के साथ बाइक से कहीं जा रहा है। इस पर एसटीएफ और सिकंदरा की पुलिस ने बदमाश का पीछा किया। सिकंदरा गांव में पुलिस ने बदमाश को घेर लिया जिसके बाद विनय श्रोत्रिय ने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी। जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी गोलियां चलाईं।
घने कोहरे में हो रहे एनकाउंटर के दौरान एक गोली विनय श्रोत्रिय के सीने पर जाकर लगी। वह घायल होकर गिर पड़ा। पुलिस उसे अस्पताल लेकर गई जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। फिरोजाबाद थाना लाइनपार के गांव रुपसपुर का रहने वाला विनय श्रोत्रिय उर्फ विनय शर्मा 13 जुलाई 2022 को पेशी पर आया था। पुलिसकर्मियों पर हमला कर फरार हो गया था। तब से पुलिस उसकी तलाश में जुटी थी। विनय पर 40 से अधिक मुकदमें थे। आईजी रेंज निचिकेता झा ने उस पर 50 हजार का इनाम घोषित किया था। गैंगस्टर विनय श्रोत्रिय फिरोजाबाद और आगरा पुलिस के लिए सिरदर्द बना हुआ था।
उसने फिरोजाबाद के नारखी थाना क्षेत्र में अगस्त 2016 में लूटकर भागने के दौरान दारोगा राजवीर सिंह को गोली मारकर घायल कर दिया था। वह इंटर रेंज गैंग का सरगना था। दीवानी परिसर छह महीने पहले फरार गैंगस्टर पर 50 हजार रुपए का इनाम घोषित था। विनय श्रोत्रिय दिसंबर 2018 से जिला जेल में बंद था। पुलिस उसे 13 जुलाई 2022 को जिला जेल से आगरा के दीवानी में पेशी पर लाई थी। कुख्यात का साथी सोनू कुशवाह दीवानी में पहले से ही मौजूद था। पेशी के दौरान विनय श्रोत्रिय आरक्षी अनुज प्रताप पर हमला करके फरार हो गया। विनय ने जेल में फेसबुक मैसेंजर और व्हाट्सएप कॉल के जरिए भागने की साजिश रची थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *