Breaking News

उत्तर प्रदेश शिक्षक भर्ती घोटाले का पर्दाफाश, पुलिस ने गिरफ्तार किए 5 आरोपी, एक लड़ चुका है विधानसभा चुनाव

उत्तर प्रदेश में कोरोना काल के बीच शिक्षक भर्ती घोटाले का मामला सामने आया है, जिसके बाद से पूरे विभाग में गहमा-गहमी बनी हुई है. दरअसल हाल ही में हुई 69 हजार सहायक शिक्षक भर्ती परीक्षा में फर्जीवाड़े को लेकर प्रयागराज पुलिस ने दो अभ्यर्थियों समेत 5 लोगों को गिरफ्तार किया है. बताया जा रहा है कि इनमें से 3 नामजद और 2 प्रकाश में आए अभियुक्त हैं. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पकड़े गए आरोपियों से पुलिस पूछताछ के दौरान पता चला है कि सरगना एल पटेल बेहद शातिराना तरीके से इस गोरखधंधे को संचालित करता था. पुलिस की टीम जगह-जगह प्रतापगढ़, भदोही और अन्य जिलों में छापेमारी कर रही है. पुलिस की नजर अब रुपए लेने के आरोपी मायापति पर बनी हुई है, अधिकारियों का कहना है कि जल्द आरोपी पुलिस की गिरफ्त में होगा.

7.5 लाख रुपए में लिया शिक्षक भर्ती पास कराने का ठेका

बता दें इससे पहले प्रयागराज में पुलिस ने एक गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए 5 लोगों को गिरफ्तार किया. इनके पास से दो कार, लाखों रुपए औऱ कई महत्वपूर्ण दस्तावेज भी बरामद हुए. पुलिस के अनुसार प्रतापगढ़ निवासी राहुल सिंह से इन्होंने 26 मई को शिक्षक भर्ती में पास कराने के नाम पर 7.50 लाख रुपए लिए थे. 1 जून को रिजल्ट आने पर जब उसका नाम लिस्ट में नहीं था तो उसने इन सभी से संपर्क करना चाहा. लेकिन सभी के मोबाइल नंबर बंद जा रहे थे. इसके बाद युवक को पता चला की यह एक गिरोह है, जो लोगों के साथ धोखाधड़ी औऱ फर्जीवाड़ा करता है.

एक आरोपी विधानसभा चुनाव भी लड़ चुका है

राहुल सिंह की तहरीर पर 8 लोगों के विरुद्ध सोरांव थाने में एफआईआर हुई थी. तहरीर के मुताबिक गिरोह के सदस्यों ने 20 औऱ अभ्यर्थियों से परीक्षा में पास कराने के लिए पैसे लिए हैं. फिलहाल पांच अभियुक्तों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, तीन अन्य की तलाश जारी है. गिरफ्तार शख्‍स में एक आरोपी साल 2017 में प्रतापपुर विधानसभा से चुनाव भी लड़ चुका है.

exam

मालूम हो कि शिक्षक भर्ती परीक्षा पास कराने वाले गिरोह का भंडाफोड 4 जून को हुआ था. जिसमें कुल 8 लोगों का नाम सामने आया. इनमें सरगना समेत सात को पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ की तो चौंकाने वाली बातें सामने आईं. पुलिस पूछताछ के बाद शनिवार को दो अभ्यर्थियों विनोद कुमार व धर्मेंद्र पटेल को गिरफ्तार कर लिया, जिनसे पूछताछ अभी की जारी है. उत्तर प्रदेश शिक्षक भर्ती घोटाले में कई सनसनीखेज खुलासे निकलर सामने आए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *