Breaking News

इमरान खान की सुरक्षा पर सालाना खर्च हो रहे 240 मिलियन- इस्‍लामाबाद पुलिस

पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद के पुलिस महानिरीक्षक डॉ अकबर नासिर खान (Akbar Nasir Khan) ने इमरान की सुरक्षा को लेकर नया खुलासा किया है. डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक नासिर ने कहा है कि पाकिस्तान की सरकार देश के पूर्व प्रधानमंत्री और पीटीआई अध्यक्ष इमरान (Imran Khan) खान की सुरक्षा पर सालाना 24 करोड़ रुपयों का खर्च कर रही थी. यह जानकारी बुधवार को हुई आंतरिक मामलों पर सीनेट की स्थायी समिति की बैठक में सामने आई, जिसकी अध्यक्षता पीटीआई के सीनेटर मोहसिन अजीज (Mohsin Aziz) ने की.

बैठक के दौरान, अजीज ने इमरान खान की सुरक्षा वापस लेने पर आईजी नासिर से सवाल किया. नासिर ने समिति को बताया कि दो निजी सुरक्षा कंपनियों के अलावा, खैबर पख्तूनख्वा, इस्लामाबाद, गिलगित-बाल्टिस्तान पुलिस, फ्रंटियर कांस्टेबुलरी और रेंजर्स के 266 कर्मियों को खान की सुरक्षा के लिए तैनात किए गए हैं. बता दें कि हाल ही में इमरान की निजी सुरक्षा कंपनियों के लाइसेंस रद्द हो जाने पर बवाल हुआ है.

समिति को बताया गया कि गृह मंत्रालय द्वारा लाइसेंस रद्द कर दिए गए थे, हालांकि, वे अभी भी सुरक्षा के घेरे में हैं. नासिर ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री राजा परवेज अशरफ, शाहिद खाकान अब्बासी और यूसुफ रजा गिलानी की तरह खान को भी पांच सुरक्षा गार्ड मुहैया कराए गए थे.

डॉन की रिपोर्ट के मुताबिक अजीज ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री एक ‘वैश्विक नेता’ है, जिन्होंने कई बार इस्लामोफोबिया के बारे में खुलकर बात रखी हैं. निर्णय पर चिंता व्यक्त करते हुए, अजीज ने कहा कि सुरक्षा एजेंसियों और पुलिस ने खुद खतरों की पुष्टि की है और इस स्थिति में, खान की सुरक्षा वापस लेना ‘गैरकानूनी और अनुचित’ है. सीनेटर डॉ शहजाद वसीम, जो पीटीआई से भी जुड़े हैं उन्होंने टिप्पणी की कि इमरान की सुरक्षा वापस लेना चिंताजनक था.

बता दें कि हाल ही में इमरान खान पर आतंकवाद विरोध अधिनियम की धारा 7 के तहत मामला दर्ज किया गया था. गिरफ्तारी की खबरों के बीच, उनकी कानूनी टीम 22 अगस्त सोमवार को पहले से जमानत के लिए अदालत का दरवाजा खटखटाने लगी थी. इमरान खान के समर्थक मौजूदा सरकार पर भड़के हुए थे इसलिए इमरान की गिरफ्तारी को लेकर पार्टी के समर्थकों ने पुरे इस्लामाबाद पर कब्जा करने की धमकी तक दे डाली थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *