Saturday , September 26 2020
Breaking News

‘इतिहास करेगा आपकी चुप्पी पर फैसला’, BMC से नाराज कंगना ने सोनिया गांधी पर उठाए सवाल

फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत के प्रोडक्शन हाउस पर BMC का बुलडोजर चलने के बाद महाराष्ट्र में राजनीति तेज हो गई है। लगातार इस मुद्दे को लेकर सोशल मीडिया पर महाराष्ट्र सरकार की जमकर आलोचना की जा रही है। और तो और कंगना रनौत भी BMC द्वारा की गई इस कार्यवाई से नाराज हैं। चूंकि जिस BMC से परमिशन लेने के बाद कंगना ने अपने इस ऑफिस को तैयार किया था, वह अचानक गिरगिट की तरह रंग कैसे बदलने लगी। इसके पीछे कई कारण हो सकते है। दरअसल कंगना रनौत का कसूर सिर्फ इतना सा था कि उन्होंने सुशांत की आकस्मिक मौत की जांच के लिए सीबीआई से अनुरोध किया था। जैसे ही यह बात महाराष्ट्र की शिवसेना सरकार को पता चली कंगना की मुश्किलें तेज होने लगी।

चूंकि शिवसेना के नेता संजय राउत से कंगना की हुई जुबानी जंग के बीच पूरा उद्धव कैबिनेट ही कंगना रनौत के विरोध में उतर गया। अब ऐसे में सवाल यह है कि उद्धव सरकार कंगना को चुप क्यों कराना चाहती है? शायद शिवसेना सुशांत मामले में कुछ छिपा रही है? या फिर उद्धव ठाकरे को अपनी सरकार गिरने का खतरा महसूस हो रहा है? कई सारी बातें अब सोशल मीडिया के माध्यम से महाराष्ट्र सरकार से पूछी जा रही है। इस बीच कंगना ने बाला साहेब का एक पुराना वीडियो शेयर करते हुए गठबंधन सरकार में सहयोगी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को लेकर ट्वीट किया है।

कंगना रनौत ने शिवसेना संग हुए विवाद पर सोनिया गांधी की चुप्पी पर सवाल खड़े करते हुए कहा- ‘आदरणीय सोनिया गांधी जी, एक महिला होने के नाते क्या जिस तरह आपकी महाराष्ट्र की सरकार ने मेरे साथ बर्ताव किया उससे आपको दुख नहीं हुआ. क्या आप डॉ. अंबेडकर द्वारा दिए गए संविधान के सिद्धांतों को बनाए रखने के लिए अपनी सरकार से अनुरोध नहीं कर सकतीं?’

कंगना ने बाला साहेब का एक वीडियो ट्वीट करके लिखा है, ‘ग्रेट बाला साहब ठाकरे, मेरे फेवरिट आइकन्स में से एक थे, उनका सबसे बड़ा डर था कि शिवसेना किसी दिन गठबंधन कर लेगी और कांग्रेस बन जाएगी. मैं जानना चाहती हूं कि अपनी पार्टी की ये दशा देखकर उनको आज क्या महसूस हो रहा होगा?’ ये वीडियो तब भी खूब वायरल हुआ था, जब महाराष्‍ट्र में बीजेपी का साथ छोड़ श‍िवसेना ने कांग्रेस और एनसीपी के साथ म‍िलकर सरकार बनायी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *