Breaking News

इटावा में बारिश बनी काल, अलग-अलग हादसों में 7 लोगों की दर्दनाक मौत

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के इटावा (Etawah) में बारिश (rain) आफत बनकर आई. बारिश की वजह से अलग-अलग हादसों में 7 लोगों की मौत (Death) हो गई. ये घटनाएं सिविल लाइन, इकदिल, बसरेहर और बकेवर इलाकों में हुई हैं. सिविल लाइन इलाके के चंद्रपुरा गांव में दीवार गिरने से चार बच्चों की जान चली गई. मरने वाले सभी भाई-बहन हैं. ये बच्चे दीवार के मलबे में दब गए थे. मृतकों में तीन भाई और एक बहन शामिल हैं. बताया जा रहा है कि बरसात की वजह से दीवार कमजोर हो गई थी, इसी वजह से वह अचानक गिर पड़ी. मृतकों में सिंकू (10 वर्ष), अभी (8 वर्ष), सोनू (7 वर्ष), और आरती 5 (वर्ष) शामिल हैं.

वहीं, इस हादसे में घायल दादी शारदा देवी और ऋशव (4 वर्ष) को उपचार के लिए मुख्यालय के डॉक्टर भीमराव अंबेडकर राजकीय संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती करा दिया गया है.

बच्चों के माता-पिता की पहले ही हो चुकी थी मौत
बताया जा रहा है कि बच्चों के माता-पिता की तीन साल पहले ही मौत हो चुकी है. चारों बच्चे अपनी दादी के पास ही रह रहे थे. वहीं, सूचना मिलते ही इटावा के जिलाधिकारी अवनीश राय और एसएसपी जयप्रकाश सिंह ने घटनास्थल चंद्रपुरा का बारीकी से जायजा लिया है. इस दौरान वह घायलों से मिलने जिला अस्पताल भी पहुंचे.

घटना के बाद से गांव में पसरा सन्नाटा
घटना के बाद से गांव में चारों ओर सन्नाटा पसरा हुआ है. पूरा गांव शोक में डूबा हुआ है. ग्रामीणों का कहना है कि इन बच्चों पर आफत बनकर बारिश आई है. तीन साल पहले ही बच्चों के माता-पिता की मौत हो गई थी. अब ये भी दुनिया छोड़ गए. किसके भरोसे दादी अपना जीवन निर्वाह करेंगी.

गांव वाले घटना में जख्मी दादी की सलामती की दुआ मांग रहे हैं. गांव में रहने वाले लोगों का कहना है कि पहले यह परिवार भरा-पूरा नजर आता था. लोग खुश रहते थे. न जाने इस परिवार को किसकी नजर लग गई. पहले भगवान ने इनसे इनके मां-बाप को छीना. अब बच्चे भी चल बसे. वहीं, इस घटना को लेकर जिले के अधिकारियों ने भी शोक जताया है. साथ ही पीड़ित परिवार को मदद देने का भरोसा जताया है.

इन इलाकों में भी हुए हादसे
वहीं, बारिश की वजह से दीवार गिरने सेइकदिल के कृपाल पुरा में दो, बकेवर के मजरा अंदावन में एक की मौत हुई है.बसरेहर के किल्ली गांव में मकान गिरने से एक महिला समेत चार लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं. सभी घायलों को उपचार के लिए मुख्यालय के डॉक्टर भीमराव अंबेडकर राजकीय संयुक्त चिकित्सालय में भर्ती करा दिया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *