Breaking News

आर्थिक संकट से निपटने के लिए हरियाणा सरकार ने लिए कड़े फैसले

कोरोना के चलते केंद्र सरकार के साथ-साथ सभी राज्यों की अर्थव्यवस्था प्रभावित हुई है। अपने राज्य में आर्थिक संकट से निपटने के लिए हरियाणा सरकार ने कई बेहद कड़े फैसले किए हैं। राज्‍य कैबिनेट की बैठक में जनता पर कई आर्थिक भार डालने वाले निर्णय लिए गए हैं। जानकारी के अनुसार अब हरियाणा रोडवेज बसों के किराये में वृद्धि कर दी गई है। वहीं सब्‍जी और फल भी महंगे हो सकते हैं। सरकार ने सब्‍जी और फल मंडियों में दो फीसदी मार्केट फीस लगा दी है। हालांकि, अभी यह फीस नहीं लगती थी।

.Budget 2020: alcohol tax frozen, smokers pay more – Which? News

इसके साथ ही शराब भी महंगी हो गई। कैबिनेट ने शराब पर कोरोना सेस लगाने का भी फैसला किया है। पेट्राेल और डीजल भी महंगा हो गया है। बताया जा रहा है कि पेट्रोल की कीमत में एक रुपये प्रति लीटर और डीजल की कीमत में 1.10 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि की गई है।

Petrol and diesel prices fall, know the new price | News Track ...

इस तरह कोरोना महामारी का असर अब प्रदेश की जनता पर अतिरिक्त खर्च के बोझ के रूप में पड़ा है। कमजोर वित्तीय स्थिति के कारण हरियाणा मंत्रिमंडल की बैठक में ये अहम निर्णय लिए गए। इससे सरकार की माली हालत को मजबूती मिल सकती है। शराब पर कोरोना सेस लगाने पर सहमति हो चुकी है, लेकिन इसकी दर कितनी होगी, यह तय होना अभी बाकी है।

BMC Has Shifted The Dadar Market To Four New Places In Mumbai To ...

आपको बता दें कि हरियाणा रोडवेज की सामान्य बसों में किराया 85 पैसे प्रति किलोमीटर से बढ़ाकर एक रुपये प्रति किलोमीटर कर दिया गया है, जबकि लग्जरी (वोल्वो) बसों का किराया दो रुपये प्रति किलोमीटर से बढ़ाकर ढाई रूपये प्रति किलोमीटर किया गया है। हरियाणा में सामान्य बसों का किराया बढ़ाने के बावजूद यह पंजाब, हिमाचल और राजस्थान से कम ही रहेगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में हुई हरियाणा मंत्रिमंडल की बैठक में मार्केट कमेटियों के अंतर्गत सब्जी मंडी और फ्रूट मंडी में दो फीसद मार्केट फीस फिर से बहाल कर दी गई है। इसमें एक फीसद मार्केट फीस और एक फीसद एचआरडीएफ सेस होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *