Breaking News

आज दोपहर भारतीय सरजमीं पर होगा राफेल का गृहप्रवेश, IAF चीफ करेंगे रिसीव- अंबाला में धारा 144 लागू

भारतीय वायुसेना का लंबा इंतजार आज खत्म होने को है। काफी लंबे वक्त से जिस लड़ाकू विमान का इंतजार था, वो राफेल विमान आज भारत को मिलने वाला है। जानकारी के अनुसार भारतीय सरजमीं पर फ्रांस से आ रहे 5 लड़ाकू विमान राफेल की आज लैंडिंग होगी। पहले बैच के तौर पर आ रहे 5 राफेल विमान आज अंबाला पहुंचेंगे और फिर भारतीय वायुसेना की टुकड़ी में शामिल हो जाएंगे। वायुसेना प्रमुख आर.के.एस. भदौरिया अंबाला एयरबेस पर आज दोपहर पांचों राफेल विमानों को रिसीव करेंगे। बता दें कि इस बाबत अंबाला में धारा 144 लगा दी गई है।

five rafale jets to land today

सूत्रों ने कहा कि भारतीय राफेल करीब 11 बजे संयुक्त अरब अमीरात के अल दफरा से टेक ऑफ करेंगे और दोपहर 2 बजे तक अंबाला पहुंच जाएंगे। इतना ही नहीं, इन राफेल विमानों की लैंडिंग के लिए एक बैक बेस भी तैयार है। अगर अंबाला और उसके आसपास में मौसम अनुकूल नहीं रहता है तो फिर इन राफेल जेट्स की लैंडिंग जोधपुर एयरबेस पर होगी। बता दें कि अंबाला और जोधपुर दोनों ही एयरबेस रणनीतिक और सामरिक रूप से महत्वपूर्ण हैं।

Rafale in India: Game-changer Rafale will reach Ambala today

फिलहाल, अंबाला में राफेल फाइटर जेट्स की लैंडिंग को ध्यान में रखते हुए अंबाला एयरबेस के पास के चार गांवों में धारा 144 लागू कर दी गई है। इतना ही नहीं, इन इलाकों में फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी भी निषेध है।

अंबाला के डीएसपी ट्रैफिक मुनीष सहगल ने कहा कि प्रशासन हाई अलर्ट पर है और लैंडिंग के दौरान छतों पर लोगों का जमावड़ा और फोटोग्राफी पूरी तरह से प्रतिबंधित है। प्रशासन ने धूलकोट, बलदेव नगर, गरनाला और पंजोखरा जैसे स्थानों से वायु सेना स्टेशन की तस्वीरों को लेने के लिए प्रतिबंधित कर दिया है।

राफेल विमान

बता दें कि भारत ने 23 सितंबर 2016 को फ्रांसीसी एरोस्पेस कंपनी दसॉल्ट एविएशन से 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीदने के लिए 59,000 करोड़ रुपए का सौदा किया था। छह राफेल प्रशिक्षु विमानों की पूंछ पर आरबी श्रृंखला की संख्या अंकित होगी। आरबी एयर चीफ मार्शल आर.के.एस. भदौरिया के नाम के पहले और अंतिम शब्द का संक्षिप्त रूप होगा। उन्होंने इस सौदे में मुख्य वार्ताकार के रूप में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *