Breaking News

आईपीएल: नीलामी से पहले कप्तान स्टीव स्मिथ का साथ छोड़ेगा राजस्थान रॉयल्स

राजस्थान रॉयल्स अपने कप्तान और प्रमुख बल्लेबाज स्टीव स्मिथ को 2021 आFपीएल नीलामी से पहले रिलीज करने की संभावना है। राजस्थान रॉयल्स फ्रेंचाइजी इस पर जल्द ही एक अंतिम निर्णय लेगी। टीम के साथ बने रहने वाले खिलाड़ियों की अंतिम सूची भी जल्द प्रस्तुत की जाएगी, क्योंकि आइपीएल फ्रेंचाइजी को 20 जनवरी को समय सीमा बताई गई है। स्मिथ की कप्तानी में राजस्थान की टीम ने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया है।


क्रिकइंफो की रिपोर्ट के मुकाबिक, स्मिथ को रिलीज करने पर विचार करने के पीछे के प्रमुख कारणों में से एक ये है कि उनकी 2020 आइपीएल की फॉर्म अच्छी नहीं रही है, जहां रॉयल्स आठ टीमों की लीग में अंतिम स्थान पर थी। एक नेता और बल्लेबाज के रूप में स्मिथ के कमजोर प्रभाव को फ्रेंचाइजी ने 2020 सीजन की समीक्षा में पाया है। स्मिथ ने टीम के लिए सभी 14 लीग मैच खेले, जिसमें 131 के स्ट्राइक रेट से 311 रन बनाए, जिसमें तीन अर्धशतक शामिल थे।


यह समझा जाता है कि राजस्थान रॉयल्स का फ्रेंचाइजी प्रबंधन चाहता था कि टीम कम से कम प्लेऑफ में पहुंचे। 2008 में उद्घाटन सत्र में आइपीएल का खिताब जीतने के बाद रॉयल्स ने 2013, 2015 और उसके बाद 2018 में प्लेऑफ में जगह बनाई थी। स्मिथ की कमी का असर पूरे आइपीएल 2020 में एक चर्चा का विषय बना रहा, क्योंकि उन्होंने अपनी बल्लेबाजी पॉजिशन को कई बार बदला था। उन्होंने सलामी बल्लेबाज के तौर पर शुरुआत की, लेकिन फिर मध्यक्रम में खेलने लगे।

2018 की नीलामी से पहले, स्मिथ एकमात्र खिलाड़ी थे, जिन्हें रॉयल्स ने 12.5 करोड़ रुपये (लगभग 1.953 मिलियन अमरीकी डॉलर) में रिटेन किया था। 2018 में रॉयल्स ने दो साल के निलंबन के बाद वापसी की और स्मिथ को कप्तान नियुक्त किया। हालांकि, स्मिथ ने आइपीएल से पहले साउथ अफ्रीका में गेंद से छेड़छाड़ कांड के चलते पद से हट गए थे। वहीं, 2019 के सीजन के बीच में अजिंक्य रहाणे से कप्तानी छीनकर स्मिथ को सौंपी गई थी। स्मिथ को रिलीज करने के मामले में राजस्थान रॉयल्स को नया कप्तान नियुक्त करना होगा। मौजूदा टीम में एक स्पष्ट अग्रदूत भारतीय बल्लेबाज विकटकीपर संजू सैमसन हैं, जो आइपीएल 2020 में फ्रेंचाइजी के लिए प्रभावी खिलाड़ियों में से एक हैं। सोमवार को सैमसन ने सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के अपने पहले मैच में केरल का नेतृत्व किया था। सैमसन, जो हाल ही में ऑस्ट्रेलियाई दौरे के व्हाइट-बॉल लेग का हिस्सा थे, उनको रॉयल्स ने 2018 की नीलामी में 8 करोड़ रुपये (लगभग 1.25 मिलियन अमरीकी डॉलर) में खरीदा था।


सैमसन को ऑस्ट्रेलियाई दौरे के लिए चुने जाने की अहम वजह आइपीएल में उनकी सफलता थी, जहां वह रॉयल्स के सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी थे, जिन्होंने तीन अर्धशतकों के साथ लगभग 159 के स्ट्राइक रेट से 375 रन बनाए। सैमसन राजस्थान रॉयल्स नेतृत्व समूह का भी हिस्सा थे, जिसमें स्टीव स्मिथ, मुख्य कोच एंड्रयू मैकडोनाल्ड, जोस बटलर और बेन स्टोक्स शामिल थे। अब देखना ये है कि अगले सप्ताह तक राजस्थान की टीम क्या फैसला लेती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *