Breaking News

अयोध्या दंगा साजिश: हिंदू योद्धा संगठन प्रमुख निकला मुख्य साजिशकर्ता, 7 अन्य गिरफ्तार

धर्मस्थलों (shrines) के सामने आपत्तिजनक पोस्टर (offensive poster) फेंकने के आरोप में हिंदू योद्धा संगठन के प्रमुख महेश मिश्रा (Mahesh Mishra) समेत सात लोग गिरफ्तार कर लिए गए हैं, जबकि चार आरोपी फरार हैं। सीसीटीवी फुटेज (cctv footage) के सहारे पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी की है। घटना में शामिल चार लोगों की तलाश की जा रही है। मुख्य आरोपी महेश मिश्रा हिंदू योद्धा संगठन का प्रमुख है।


यूपी पुलिस के मुताबिक उसने अपने 10 साथियों के साथ दो मस्जिदों व एक जगह सड़क पर आपत्तिजनक वस्तुएं फेंककर दंगा कराने की साजिश रची थी। आरोपियों की पूरी हरकत मस्जिदों व शहर में विभिन्न स्थानों पर लगे सीसीटीवी में कैद हो गई थी। पुलिस ने घटना के 24 घंटे के अंदर आरोपियों को पकड़कर बड़ी सफलता हासिल की है। पुलिस के अनुसार आरोपी दिल्ली की घटना से नाराज थे।

इस संबंध में आईजी कवींद्र प्रताप सिंह ने बताया कि बीते 26-27 अप्रैल की रात कुछ असामाजिक तत्वों ने शहर की कश्मीरी मोहल्ला, टाटशाह, घोसियाना रामनगर, ईदगाह सिविल लाइन मस्जिद एवं दरगाह जेल के पीछे आपत्तिजनक पोस्टर, मांस व धार्मिक पुस्तक की फटी प्रति डालकर शहर में दंगा फैलाने की कोशिश की थी। जांच के दौरान घटनास्थल व शहर के विभिन्न स्थानों पर लगे सीसीटीवी की जांच में आरोपियों की पहचान हो गई।पुलिस टीम ने इनमें से सात आरोपियों को गुरुवार की सुबह आरटीओ कार्यालय के पास से गिरफ्तार कर लिया। इनकी पहचान महेश कुमार मिश्रा, प्रत्युष श्रीवास्तव, नितिन कुमार ज्ञानचंद्र सिंधी, दीपक कुमार गौड़, बृजेश पांडेय, शत्रुघ्न प्रजापति व विमल पांडेय के रूप में हुई। यह सभी अयोध्या के ही रहने वाले हैं। बाकी चार की रिफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। आरोपियों के खिलाफ धारा 295, 295ए के तहत कार्रवाई की जा रही है।

वहीं एसएसपी शैलेश पांडेय के अनुसार आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि महेश मिश्रा इसका मुख्य साजिशकर्ता है। उसने अपने 10 साथियों के साथ मिलकर बृजेश पांडेय के मकान मे साजिश रची। महेश ने फ्लैक्स, पंफ्लेट आशीर्वाद फ्लैक्स लालबाग से खरीदा। प्रत्यूष श्रीवास्तव ने चौक के गुदड़ी रोड दर्रे के पास मो. रफीक बुक स्टोर से दो धार्मिक ग्रंथ, पम्मी कैप हाउस राजा गली चौक से टोपी खरीदी।

पुलिस का कहना है कि आकाश ने लालबाग से मांस उपलब्ध कराया गया। यह सभी 26 अप्रैल की रात 10 बजे नाका स्थित वर्मा ढाबे पर एकत्र हुए और वहां से खाना खाने के बाद आरटीओ कार्यालय के पास स्थित बृजेश पांडेय के मकान पहुंचे। मकान के अंदर महेश मिश्रा एवं प्रत्यूष श्रीवास्तव ने फ्लैक्स पर आपत्तिजनक बातें लिखीं। इसके बाद चार बाइक से सभी देवकाली बाईपास होकर देवकाली मंदिर होते हुए बेनीगंज तिराहा पहुंचे। जहां पीआरवी की गाड़ी देखकर बेनीगंज मस्जिद पर घटना नहीं कर सके और खुर्दाबाद होकर परिक्रमा मार्ग होते हुए कश्मीरी मोहल्ला मस्जिद में जाकर धार्मिक ग्रंथ फाड़कर और मांस व आपत्तिजनक पंपलेट डाला। इसके बाद एसएसबी स्कूल के पास से होकर साकेत प्रिंटिंग प्रेस होते हुए थाना कोतवाली नगर के पीछे वाले रास्ते से निकलकर दर्रा के पास से राजकरन स्कूल के सामने से टाटशाह मस्जिद पर जाकर उसके सामने यही काम किया।

इसके बाद टकसाल होते हुए खिड़की अली बेग के सामने से जीआईसी होकर जेल के पीछे गुलाब शाह दरगाह पर, उसके बाद जेल के पीछे से होकर पोस्टमार्टम हाउस के सामने से एसबीआई मेन ब्रांच के सामने से निकलकर तहसील चौराहा होकर ईदगाह सिविल लाइन पर व उसके बाद तहसील चौराहा होकर पोस्टमार्टम हाउस के सामने से निकलकर रेलवे क्रॉसिंग पार करने के बाद घोसियाना रामनगर मस्जिद पर इसी तरह की हरकत की। इसके बाद सभी कौशलपुरी होकर पुन: आरटीओ ऑफिस के पास बृजेश पाण्डेय के मकान पर पहुंचे और अपने अपने घर चले गये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *