Breaking News

अमेरिका की कोरोना वैक्सीन से नष्ट होगा हिंदू धर्म, स्वामी चक्रपाणि के दावे से मची सनसनी

कोरोना वायरस (Corona Virus) अब पूरी दुनिया में फैल चुका है और वैक्सीन आने से पहले कोरोना का नया स्ट्रेन कई देशों में दस्तक दे चुका है. जिसके बाद से दुनिया में एक बार फिर से वैसे ही प्रतिबंध जैसे हालात बनते जा रहे हैं. इस बीच अब लोगों को कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) का इंतजार है. माना जा रहा है कि, भारत में अगले महीने वैक्सीन आ सकती है. लेकिन वैक्सीन आने से पहले ही इस पर विवाद हो गया है. मुंबई की रजा अकादमी के बाद अब हिंदू महासभा नेता स्वामी चक्रपाणि (Swami Chakrapani) का दावा है कि, अमेरिका में तैयार हुई वैक्सीन में गाय का खून (Cow blood) है. इसलिए हिंदू इस टीके को ना लगवाएं और सरकार भी इस वैक्सीन के इस्तेमाल पर रोक लगा दे.

राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन
इस संबंध में स्वामी चक्रपाणि (Swami Chakrapani) ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को ज्ञापन भेजा है. जिसमें कहा है कि, कोरोना खत्म होना जरूरी है और वैक्सीन भी जल्द लगाई जानी चाहिए. लेकिन इसके लिए धर्म को नष्ट नहीं किया जा सकता. चक्रपाणि का कहना है कि, जब भी किसी नई दवाई का निर्माण होता है तो उसमें मिलाए जाने वाली चीजों की जानकारी जनता को दी जाती है तो कोरोना वैक्सीन की जानकारी क्यों नहीं दी जा रही.

सनातन धर्म में गाय माता
स्वामी चक्रपाणि (Swami Chakrapani) का कहना है कि उन्हें ऐसी जानकारी मिली है कि अमेरिका में तैयार हुई कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) में गाय के खून का इस्तेमाल हुआ है. जबकि सनातन धर्म में गाय को माता माना जाता है और अगर गाय का खून वैक्सीन के जरिए हमारे शरीर में पहुंचाया जाता है तो वह धर्म को नुकसान पहुंचाने की कोशिश होगी. चक्रपाणि का मानना है कि, सनातम धर्म को खत्म करने के लिए सालों से साजिश रची जा रही है और इसी कारण हम चाहते हैं कि अगर विदेश से कोई भी वैक्सीन आ रही है तो हमें पहले उसकी सारी जानकारी दी जाए. जब लोगों के सारे संशय दूर हो जाएं उसके बाद ही वैक्सीन का इस्तेमाल किया जाए.

जान जाए पर धर्म नष्ट नहीं
स्वामी चक्रपाणि (Swami Chakrapani) का कहना है कि वैक्सीन की सारी जानकारी जनता के सामने रखनी चाहिए. उसके बाद जनता के पास टीका लगवाने का विकल्प होना चाहिए. चक्रपाणि का कहना है, भले जान चली जाए लेकिन धर्म नष्ट नहीं होना चाहिए. जब इस बात का भरोसा हो जाएगा कि वैक्सीन में गाय का खून नहीं है तभी वैक्सीन लगवाएंगे.
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने वैक्सीन के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि, अगले महीने कभी भी कोरोना वैक्सीन भारत में लॉन्च हो सकती है. इसके लिए सोमवार से देश में 48 घंटे की मेगा ड्रिल भी शुरू हो गई है. जिससे राज्य सरकारों की तैयारियों का पता चल सके. इसके अलावा उन्होंने बताया कि, जब टीके लगने की प्रक्रिया शुरू होगी तो सबसे पहले कोरोना वॉरियर्स को लगाया जाएगा. इसके बाद आम जनता तक वैक्सीन पहुंचाई जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *