फिरोज गांधी और इंदिरा गाधी की शादी की ये सच्चाई नहीं जानते होंगे आप, जानिए- दोनों की पूरी लवस्टोरी

भारत की पूर्व पीएम इंदिरा गांधी सामाजिक तौर पर एक सशक्त महिला तो थी ही लेकिन वो अपने व्यक्तिगत जीवन को भी बड़े ही शानदार तरीके से जीती थी। आज हम उनके व्यक्तिगत जीवन पर एक नजर डालते है जिसमें हम जिक्र करेंगे इंदिरा के वैवाहिक जीवन के बारे में। आखिर कैसे हुई इंदिरा की फिरोज गांधी से शादी? कैसी थी उनकी लवस्टोरी। इन सभी सवालों के जवाब डूंडेंगे।

साल 1942 में फिरोज गांधी से इंदिरा गाधी की शादी हुई तब दोनों की उम्र काफी कम थी। फिरोज और इंदिरा गांधी की मुलाकात मार्च 1930 में हुई थी। दरअसल आजादी की लड़ाई में एक कॉलेज के सामने धरना दे रही कमला नेहरू बेहोश हो गयी और तब फिरोज गांधी ने उनकी देखभाल की। ये तो सभी जानते होंगे कि कमला नेहरू को टीबी की बीमारी थी। कमला को टीबी होने के बावजूद फिरोज भुवाली के टीबी सैनिटोरियम में उनके साथ रहे। इतना ही नहीं जब कमला इलाज के लिए यूरोप गईं तो वहां भी फिरोज उन्हें देखने पहुंच गए।

साल 1936 को जब कमला नेहरू का देहांत हो गया तो फिरोज गांधी भी वहां मौजूद थे। ऐसा माना जाता है कि इसी वजह से इंदिरा फिरोज गांधी से इस कदर प्रभावित हुईं कि उन्होंने उनसे शादी करने का फैसला किया। बताआ जाता है कि इस रिश्ते के लिए पिता जवाहर लाल नेहरू तैयार नहीं थे लेकिन इंदिरा फिरोज गांधी से इस कदर प्रभावित थी कि उन्होंने पिता की मर्जी के खिलाफ मार्च 1942 में शादी कर ली। उस वक्त महात्मा गांधी ने इंदिरा और फिरोज को अपना सरनेम गांधी दिया था। हालांकि वो बात और है कि बाद में जवाहर लाल नेहरू ने भी इस रिश्ते पर मुहर लगा दी थी।

=>
loading...