अब दिल्ली की राजनीति में अपना दम दिखायेंगे पहलवान सुशील कुमार, इस बड़ी पार्टी ने बनाया उम्मीदवार

पहलवानी की दुनिया में बड़े-बड़े धुरंधरों को चित करने वाले ओलंपियन सुशील कुमार अब लोकसभा चुनाव-2019 में राजनीति के अखाड़े में दांव आजमाएंगे। दरअसल, कांग्रेस ने पश्चिमी दिल्ली (West Delhi) लोकसभा सीट पर सुशील कुमार को अपना उम्मीदवार बनाया है। इस जाट बहुल सीट पर फिलहाल दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत साहिब सिंह वर्मा के पुत्र प्रवेश वर्मा सांसद हैं। सुशील कुमार और प्रवेश वर्मा दोनों के ही जाट समुदाय का होने के चलते यहां पर मुकाबला बेहद दिलचस्प होने जा रहा है। वर्तमान में सुशील भारतीय रेलवे (Indian Railway) में असिस्टेंट कमर्शियल मैनेजेरिअल के पद पर कार्यरत हैं। राजनीति में नौसिखिया सुशील ने खेल की दुनिया में बड़ा नाम कमाया है, जो फिलहाल इतिहास बन चुका है। ओलंपिक में इंडिविजुअल गेम की कैटेगरी में भारत ने कभी दो बार मेडल नहीं जीते हैं। ऐसा करने वाले पहलवान सुशील कुमार इकलौते भारतीय खिलाड़ी हैं।

 

सुशील कुमार की सामने होगी बड़ी चुनौती

  • पश्चिमी दिल्ली सीट से लड़ने जा रहे कांग्रेस के उम्मीदवार सुशील के सामने सबसे बड़ी चुनौती भाजपा प्रत्याशी प्रवेश वर्मा होंगे, जैसा कि संभावित है भाजपा से उन्हें ही टिकट मिलेगा। ऐसे 38 वर्षीय सुशील पहली बार कोई चुनाव लड़ रहे हैं और उनके खिलाफ पांच साल का सफल सांसद होगा। यह एक बड़ी चुनौती है।
  • कांग्रेस दिल्ली में अपनी राजनीतिक जमीन खो चुकी है, ऐसे में सुशील के पास पुराने कांग्रेस मतदाताओं को वापस लाने के साथ युवा मतदाताओं को भी पार्टी को पाले में लाना होगा, जो आम आदमी पार्टी (AAM AADMI PARTY) और भाजपा के पाले में चले गए हैं।
  • पश्चिमी दिल्ली में ग्रामीण इलाके भी शामिल हैं, जिसमें जाट मतदाताओं की संख्या भी है। ऐसे में सुशील को जाट मतदाताओं के साथ अन्य जाति के मतदातोँ को भी साधना होगा।
  • इस सीट पर सुशील के सामने आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार भी चुनौती पेश करेंगे, जो सुशील का वोट काट सकता है। ऐसे में सुशील को न केवल AAP के वोट अपने पाले में लाने होंगे, बल्कि बूथ मैनेजमेंट भी मजबूत करना होगा।
=>
loading...