मुख्यमंत्री योगी ने 51 कन्याओं के पूजे पांव, खुद कन्याओं को परोसा भोजन

शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रामनवमी के मौके पर गोरखनाथ मंदिर में कन्या पूजन किया। योगी ने गोरखनाथ मंदिर में कन्या और बटुक भैरव के पांव पूजकर पूजा-अर्चना की। इससे पहले मुख्यमंत्री योगी ने 51 कन्याओं के पांव पूजे। फिर उन्हें चुनरी और माला पहनाकर पूजन किया। खुद कन्याओं को भोजन परोसा।

एक बच्ची ने सिर पर चुनरी डालने से पहले पूछा- हमे पैसे तो मिलेंगे। हंसते हुए योगी ने कहा- पैसे चुनरी में ही रखे हैं। गोरखनाथ मंदिर के ट्विटर हैंडिल से पूजा-अर्चना की तस्वीरें जारी की गई हैं।गोरखनाथ मंदिर में यह परंपरा काफी समय से चली आ रही है। हर साल यहां रामनवमी के दिन योगी आदित्यनाथ द्वारा कन्या पूजन किया जाता है। उनके मुख्यमंत्री बनने के बाद भी यह सिलसिला लगातार जारी है। इस बार भी तमाम राजनीतिक व्यस्तताओं के बीच उन्होंने इस धार्मिक कार्य को किया।

मंगला माता मंदिर में भी किया दर्शन :  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखनाथ मंदिर से कानपुर रवाना होने के पूर्व बेतियाहाता स्थिति मंगला देवी मंदिर जाकर माता का दर्शन किया। उसके बाद एयरपोर्ट से विशेष विमान से कानपुर के लिए रवाना हो गए।

सीएम योगी ने कहा, बाबा साहब ने विपरीत परिस्थितियों में मानव कल्याण के लिए काम किया  :  बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर की जयंती पर मुख्यमंत्री योगी ने हजरतगंज स्थित आंबेडकर महासभा में बाबा साहब की मूर्ति पर माल्यार्पण किया। इस मौके पर योगी ने बाबा साहब को भारत माता का महान सपूत बताया। योगी ने कहा कि बाबा साहब ने विपरीत परिस्थितियों में मानव कल्याण के लिए काम किया। उन्होंने कहा कि बाबा साहेब ने कहा था कि दलित समाज जब तक शिक्षित नहीं होगा। तब तक आर्थिक रूप से सशक्त नहीं हो सकता। इसलिए केन्द्र सरकार व राज्य सरकार दलितों के विकास के लिए लगातार काम कर रही है।

=>
loading...