पीएम मोदी के डर से हुआ सपा-बसपा गठबन्धन, कांग्रेस का हाथ देशद्रोहियों के साथ

सपा का झंडा गुण्डों का झण्डा है जबकि कांग्रेस का हाथ देशद्रोहियों के साथ है। ऐसे में देश में यदि लोगों की आशा का केन्द्र हैं तो वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हैं। देश की जनता ने निश्चय कर लिया है कि वह इस बार पहले से भी अधिक सीटें सौंपकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के हाथ मजबूत करेगी।


यह बात मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार सायं आगरा लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार व प्रदेश सरकार के मंत्री एसपी सिंह बघेल के पक्ष में एटा के जलेसर कस्बा में आयोजित जनसभा में कही। उन्होंने एमजीएम इंटर कालेज में आयोजित इस जनसभा में कांग्रेस पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस का हाथ, देशद्रोहियों के साथ है।

वायनाड में नामांकन के दौरान कांग्रेस का झंडा नहीं दिखा

मुख्यमंत्री ने कहा कि अमेठी से पराजय के डर से भागे राहुल गांधी के वायनाड में नामांकन के दौरान कांग्रेस का झंडा नहीं दिखा था। वहां तो किसी और के झंडे ही नजर आ रहे थे।वहीं सपा-बसपा गठबंधन को अवसरवादी गठबंधन करार देते हुए उन्होंने कहा कि महागठबंधन के सारे दल एक-दूसरे से आचार, विचार, व्यवहार व नीतियों में अलग-अलग हैं। मोदी का भय इन्हें एक किये हुए है। ये सारे के सारे अवसरवादी किसी न किसी तरह सत्ता पर काबिज होने का सपना देख रहे हैं। जबकि देश की जनता अच्छी तरह जानती है कि इन दलों ने अपनी सरकारों के समय कितना भ्रष्टाचार में डूबकर काम किया था।

चीन व पाकिस्तान घुसपैठ कर रहे थे

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भाजपा की सरकार ने आतंकवाद से निपटने का काम किया है। मोदी सरकार आने के बाद पहली बार आतंक को करारा जवाब दिया गया है। जबकि कांग्रेस की सरकार में चीन व पाकिस्तान घुसपैठ कर रहे थे, सरकारें चुपचाप देखती रहती थीं।

उन्होंने कहा कि पांच साल में केंद्र की सरकार ने विकास के क्षेत्र में जो काम किया, वह किसी सरकार ने आज तक नहीं किया। सरकार ने बिना भेदभाव समाज के हर वर्ग के लिए काम किया गया है। उन्होंने बिजली कनेक्शन, उज्ज्वला योजना, आवास योजना, पेंशन योजना, आयुष्मान योजना आदि केन्द्र सरकार की दर्जनों योजनाओं का जिक्र किया। मुख्यमंत्री ने जनसभा में केन्द्र व प्रदेश सरकार की ये उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि इनका लाभ हर वर्ग को मिला है। भाजपा सदैव सबका साथ सबका विकास की बात करती है। सबके विकास के लिए काम करती है। जबकि विपक्षी लोगों को जाति, धर्म, संप्रदाय में बांटने की राजनीति करते हैं।

=>
loading...