मेजर चित्रेश के अंतिम संस्कार में लगे नारे, देश के गद्दारों को-गोली मारो सारों को

जम्मू-कश्मीर के रजौरी जिले में नौशेरा सेक्टर के पास आईईडी बम डिफ्यूज करते वक्त मेजर चित्रेश बिष्ट शहीद हो गए थे। शहीद मेजर चित्रेश बिष्ट को देहरादून में अंतिम विदाई दी गई। अंतिम यात्रा और अंतिम संस्कार में हजारों लोग शामिल हुए।

इस दौरान शहीद चित्रेश अमर रहे, पाकिस्तान मुर्दाबाद, देश के गद्दारों को गोली मारो सारों को, के नारे लगते रहे। मेजर चित्रांश की 7 मार्च को शादी होने वाली थी। परिवार शादी की में लगा हुआ था तभी शहादत की खबर आई।

28 फरवरी को आने वाले थे घर : मेजर चित्रांश को शादी के लिए 28 फरवरी को घर आना था। उन्होंने मां से कहा था कि नई साड़ी लाऊंगा, उसी को शादी में पहनना। यह इच्छा भी अब कभी पूरी नहीं हो पाएगी। नौसेरा सेक्टर में शहीद हुए मेजर चित्रेश बिष्ट को उनके दोस्त और भाई टाइगर कह कर बुलाते थे। बताते हैं कि शहीद बहुत बहादुर और निडर थे। सोमवार को सैन्य अस्पताल से उनकी पार्थिव देह को घर ले जाया गया, जिसके बाद मेजर चित्रेश बिष्ट के माता-पिता हाथ में बेटे की शादी का कार्ड लेकर रो रहे थे।

=>
loading...