दर्दनाक कहानी: गरीब की बेटी से 15 लड़कों ने किया गैंगरे’प-प्रेग्नेंट हो गई फिर भी नहीं छोड़ रहे

15 वर्षीय विक्षिप्त नाबालिग लड़की के साथ गैंगरे’प का मामला सामने आया है। फिलहाल, पीड़िता 4 महीने की प्रेग्नेंट है। उसके माता-पिता काफी गरीब हैं। वे न्याय की मांग लेकर गांव की चौखटों तक भटक रहे हैं। आरोपियों के भय के कारण थाना तक नहीं पहुंच रहे हैं। हालांकि अब गांव की पंचायत ने मामले को अपने हाथों में लेकर कार्रवाई शुरू कर दी है।

मगर ग्रामीणों के दवाब के कारण पंचायत आरोपियों को बचाने में जुट गई है। पंचायत में पीड़िता का अबॉर्शन कराए जाने का निर्णय हुआ है। कुछ महीने पहले 15 युवकों ने किया था गैंगरे’प : बताया जाता है कि कुछ महीने पहले पीड़िता के साथ गांव के 15 युवकों ने गैंगरे’प किया था, जिससे वो प्रेग्नेंट हो गई। इसके बाद भी उसके साथ रे’प होता रहा। 4 माह का गर्भ ठहरने के बाद इसकी जानकारी उसके माता-पिता को हुई। वे न्याय के लिए गांव के लोगों के पास पहुंचे लेकिन किसी ने उनकी पीड़ा नहीं सुनी। उल्टा उन्हें न्याय के लिए गांव के बाहर नहीं निकलने का हिदायत दी गई। ग्रामीणों के अलावा आरोपियों ने भी पीड़िता व परिवार को गांव से बाहर नहीं निकलने की धमकी दी।

शुक्रवार सुबह बुलाई गई थी पंचायत : मामले के निपटारा करने को लेकर शुक्रवार को सुबह करीब 9 बजे गांव में पंचायत बुलाई गई। पंचायत में सैंकड़ों ग्रामीण उपस्थित थे। मगर पंचायत ने भी पीड़िता का साथ नहीं दिया। उल्टा पंचायत आरोपियों को बचाने में जुटी रही। कुल 15 आरोपियों का नाम पंचायत द्वारा रजिस्टर्ड किया गया। मगर कुछ देर बाद इनमें से 4 का नाम हटा दिया। साथ ही पंचायत द्वारा निर्णय दिया गया कि मामला गांव से जुड़ा हुआ है। इसलिए गांव स्तर पर ही मामले को रफा-दफा कर दिया जाए। इसके बाद पंचायत ने पीड़ित परिवार को आरोपियों द्वारा कुछ राशि देने व पीड़िता का गर्भपात कराने का फरमान सुनाया।

ग्रामीणों ने पुलिस को बैरंग भेजा : इधर, मामले की जानकारी मिलते ही जैसे ही स्थानीय मीडियाकर्मी मौके पर पहुंचे तो, पत्रकारों को देख ग्रामीण भड़क उठे। ग्रामीणों ने पंचायती की फोटोग्राफी नहीं करने दी। साथ ही कहा कि मामले का निपटारा कर लिया गया है। इधर, सूचना के बाद सदर थाना की पुलिस भी मौके पर पहुंची, मगर ग्रामीणों ने पुलिस को कोई जानकारी नहीं दी। साथ ही उन्हें भी बैरंग लौटा दिया। थाना प्रभारी राकेश कुमार से पूछे जाने पर कहा- मुखिया अनिल से घटना की जानकारी ली गई है। मामले में जो भी दोषी हैं उसपर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। पीड़िता को न्याय दिलाया जाएगा।

=>
loading...