लोकसभा चुनाव 2019 : दो सीटों से चुनाव लड़ सकते हैं पप्पू यादव

जन अधिकार पार्टी के संरक्षक पप्पू यादव अभी तक अपने राजनितिक भविष्य के बारे में फैसला नहीं कर पाए हैं। उनकी निगाहें कल दिल्ली में होने वाली महागठबंधन के नेताओं बैठक पर टिकी है जिसमे तेजस्वी यादव, जीतन राम मांझी और उपेन्द्र कुशवाहा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी से मुलाक़ात करेंगे और सीट बंटवारे पर फैसला करेंगे। पप्पू यादव ने कहा कि महागठबंधन की बैठक में होने वाले फैसले के बाद ही वो अपना निर्णय जनता को बताएँगे। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि “मेरा मालिक और भगवान जनता है। न कि दिल्ली पटना। दिल्ली-पटना से बस इतना नाता है कि जनता की सेवा में सहायक बन सकूं। उनकी मुश्किलें दूर कर सकूं!” सूत्रों के हवाले से ये भी खबर आ रही है कि इस बार पप्पू यादव दो सीटों से मैदान में उतर सकते हैं। ये दो सीटें होंगी मधेपुरा और पूर्णिया। सीट बंटवारे में पूर्णिया सीट कांग्रेस के खाते में जाती दिख रही है जबकि मधेपुरा राजद के खाते में

पप्पू यादव मधेपुरा से सांसद हैं। खबर है कि मधेपुरा सीट से शरद यादव राजद के चुनाव  चिन्ह पर मैदान में उतरेंगे। पप्पू यादव कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ना चाहते है। साथ ही उन्होंने ये भी कहा है कि किसी भी कीमत पर मधेपुरा सीट नहीं छोड़ेंगे। पप्पू यादव ने कहा था कि अगर कांग्रेस से टिकट मिला तो उन्हें दो टिकट चाहिए और अगर कांग्रेस से टिकट नहीं मिला तो जन अधिकार पार्टी 4 सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी।

बुधवार को महागठबंधन के नेता तेजस्वी यादव, जीतन राम मांझी, मुकेश सहनी और उपेन्द्र कुशवाहा सीट बंटवारे की गुत्थी सुलझाने के  लिए दिल्ली जा रहे हैं, जहाँ राहुल गाँधी से बात कर सीट बंटवारे पर सहमती बनाई जायेगी। पहले चरण के चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख 25 मार्च है  और अभी तक महागठबंधन में सीट बंटवारे पर उलझन सुलझ नहीं पायी है।  संभावित उम्मीदवार परेशान है कि एक बार सीट पता चल जाए फिर वो अपनी तैयारियां शुरू कर सकें।

=>
loading...