बिचौलिए से परेशान किसान ने की आत्महत्या, कथित सुसाइड नोट में लिखा भाजपा को वोट न करें

देहरादून: उत्तराखंड के हरिद्वार जिले में स्थित डडकी गांव में एक किसान का कथित सुसाइड नोट बरामद किया गया है जिस पर लिखा है कि भाजपा के लिए वोट मत करें. सोमवार को पुलिस ने इसकी जानकारी दी.

द टाइम्स ऑफ़ इंडिया  के अनुसार, 65 वर्षीय किसान ईश्वर चंद शर्मा ने सोमवार को तड़के जहर पीकर आत्महत्या कर ली थी. अस्पताल ले जाने के दौरान उनकी मौत हो गई थी.

कथित सुसाइड नोट में किसान ने लिखा है, ‘भाजपा सरकार ने पांच सालों में किसानों को बर्बाद कर दिया है. उनके लिए वोट न करें वरना वो हर किसी से चाय बनवाएंगे.’

हालांकि पुलिस अभी सुसाइड नोट की प्रामाणिकता की पुष्ट करने में लगी है.

सुसाइड नोट में शर्मा ने आरोप लगाया है कि बैंक से पांच लाख का लोन दिलाने वाला एक बिचौलिया पैसे के लिए उन्हें ब्लैकमेल कर रहा था.

किसान ने लिखा है कि उसने ऋण आवेदन करते समय गारंटर के रूप में हस्ताक्षर करने के लिए अनाम बिचौलिए के नाम एक खाली चेक जारी किया था.

उसका आरोप है कि बैंक का ऋण चुकाने के बाद बिचौलिया उसे धमकी देने लगा कि वह उस चेक से वह राशि अपने खाते में जमा करा लेगा जो उसने अपनी फसल बेंच के जमा की है.

लक्सर के थाना प्रभारी विरेंद्र सिंह ने कहा, ‘शुरुआती जांच में यह पाया कि मृतक किसान ने एक बिचौलिया के माध्यम से बैंक से पांच लाख रुपये का लोन लिया था.’

उन्होंने बताया, ‘अपने सुसाइड नोट में किसान ने आरोप लगाया है कि मामला सुलझाने के लिए बिचौलिया उससे चार लाख रुपये मांग रहा था.’

सुसाइड के बारे में पूछे जाने पर सिंह ने कहा कि इसका पता लगाया जा रहा है कि वह उसी ने लिखा है या नहीं.

इस बीच, किसानों के मुद्दे को नजरअंदाज करने के लिए कांग्रेस ने भाजपा की आलोचना की है. कांग्रेस का दावा है कि पिछले दो साल में राज्य में 17 किसान आत्महत्या कर चुके हैं.

कांग्रेस उपाध्यक्ष सुर्यकांत धसमना ने कहा, ‘यह बहुत दुखद है कि नरेंद्र मोदी अपने घोषणा पत्र में किसानों को मुआवजा देने की घोषणा करते हैं  और लक्सर में एक किसान उनकी गलत नीतियों के कारण आत्महत्या कर लेता है.’

हालांकि भाजपा प्रवक्ता देवेंद्र भसीन ने कांग्रेस के इन आरोपों को खारिज कर दिया है.

=>
loading...