सपा को लगा करारा झटका, ब्राह्मणों के नेता अनूप पांडेय ने छोड़ी पार्टी, थामा कांग्रेस का हाथ

 

उत्तर प्रदेश के बस्ती जिले के विधानसभा रुदौली से समाजवादी पार्टी के पूर्व विधायक व लोक प्रिय ब्राह्मणों का चेहरा माने जाने वाले ब्राह्मण हृदय सम्राट अनूप पांडेय जी ने आज कांग्रेस पार्टी को ज्वाइन किया।

ब्राह्मण और मुस्लिम बाहुल्य वोट की प्रतिशत संख्या सबसे अधिक

लोकसभा बस्ती से समाजवादी पार्टी और बसपा के गठबंधन में यह सीट बसपा के खाते में चली गई है । राजनीति सूत्रों की माने बस्ती लोकसभा में ब्राह्मण और मुस्लिम बाहुल्य वोट की प्रतिशत संख्या सबसे अधिक है और ब्राह्मणों को उनका हक दिलाने वाले हमेशा सब के साथ खड़े रहने वाले पूर्व विधायक को टिकट ना मिलने से बस्ती लोकसभा के ब्राह्मणों ने समाजवादी पार्टी के खिलाफ काफी नाराजगी व्यक्ति की, जिससे अपने हजारों समर्थकों के साथ सपा के पूर्व विधायक अनूप पांडेय ने आज कांग्रेस ज्वाइन किया। इससे समाजवादी पार्टी को एक करारा झटका लगा माना जा रहा है।

कैसा रहा राजनीतिक इतिहास

अनूप पांडेय ने बताया कि वह 1991 से राजनीति में सक्रिय हैं उन्होंने 1993 में विधान सभा का चुनाव लड़ा। सपा-बसपा के एलाइन्स में 38000 वोट मिले और हार का समना करना पड़ा। इसके बाद 1996 में निर्दलीय ही चुनावी मैदान में कूद गए। इसमें लगभग 24000 वोट मिले। 2002 में समाजवादी पार्टी का विधायक चुने गए। विधान सभा चुनाव में लगभग 15000 वोटों से जीत दर्ज की थी। लेकिन 2007 में अचानक तबियत खराब हो जाने की वजह से चुनाव में हार का सामना करना पड़ा था।

=>
loading...