ग्रुप एडमिनों को चुनाव आयोग की चेतावनी, कहा-प्रत्याशी के प्रचार-प्रसार पर होगी कार्रवाई

लोकसभा चुनाव को लेकर झारखंड सरकार ने Whatsapp ग्रुप के एडमिनों से पेड न्यूज का प्रचार-प्रसार नहीं करने को कहा है। वहीं ऐसा करने पर उनके खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश जारी किया है। निर्देश के अनुसार अगर कोई Whatsapp ग्रुप में किसी एक प्रत्याशी के पक्ष में प्रचार- प्रसार करता है तो वह पेड न्यूज के दायरे में आता है। ऐसे Whatsapp ग्रुप के एडमिनों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

चुनाव आयोग की सोशल मीडिया पर नजर : चुनाव आयोग ने सोशल मीडिया पर नजर रखने के लिए मॉनिटरिंग सेल का गठन किया है। जिसमें 8 सोशल मीडिया एक्सपर्ट की टीम को शामिल किया गया है। यह सेल चुनाव के दौरान सोशल मीडिया पर आयोग की इजाजत बिना राजनीतिक विज्ञापन या किसी पार्टी को समर्थन करने वाली गतिविधियों पर नजर रखेगी।

बिहार में सोशल मीडिया पर चुनाव आयोग की नजर, मॉनिटरिंग सेल का हुआ गठन : लोकसभा चुनाव की घोषणा होते ही सोशल मीडिया पर भी सभी लोग सक्रिय हो गये हैं। सोशल मीडिया में पार्टियों, नेताओं समेत समर्थक भी अपने-अपने विचारों के साथ छींटाकशीं शुरू कर दी है। आचार संहिता के मद्देनजर सोशल मीडिया पर निगरानी करना चुनाव आयोग के लिए एक बड़ी चुनौती है। सोशल मीडिया पर नजर रखने के लिए चुनाव आयोग ने एक मॉनिटरिंग सेल का गठन किया है।

 

जानकारी के मुताबिक, लोकसभा चुनाव की घोषणा के बाद सोशल मीडिया पर विरोधियों पर हमले तेज हो गये हैं। वहीं, कई फर्जी अकाउंट बना कर भी कई लोग विरोधियों पर निशाना साधने में जुटे हैं। सोशल मीडिया पर कंटेंट की मॉनिटरिंग के लिए चुनाव आयोग ने एक मॉनिटरिंग सेल का गठन किया है। इस सेल में सोशल मीडिया के एक्सपर्ट को रखा गया है। टीम में कुल आठ लोग शामिल किये गये हैं। यह सेल चुनाव के दौरान सोशल मीडिया पर आयोग की इजाजत के बिना राजनीतिक विज्ञापन या किसी पार्टी को समर्थन करनेवाली गतिविधियों पर नजर रखेगी।

=>
loading...