पान के इस टोटके से नहीं रहेगी आर्थिक तंगी, बरसेगा धन

सभी के जीवन में एक समय ऐसा आता है जब व्यक्ति किसी दुर्घटना के कारण आर्थिक समस्या का सामना करता है या फिर व्यवसाय में हानि का सामना करता है। कभी -कभी परिवार में आर्थिक समस्या का कारण ग्रहों के प्रतिकूल प्रभाव या परिवार के मुखिया के कुंडली दोष भी हो सकते है। हमारी कई परेशानियों का कारण होता हैं हमारे बनते कामों का बिगड़ना।

Loading...

कई बार ऐसा होता हैं कि हमारे बनते हुए काम बिगड़ जाते हैं और फिर हम उसी बात को लेकर परेशान होते रहते हैं। लेकिन हमारी कई परेशानियां इस एक टोटके को करने से दूर हो जाती हैं। यह टोटका पान के पत्ते का हैं। पान के पत्ते को हिंदू धर्म में बहुत ही पवित्र और शुभ माना जाता हैं। हिंदू धर्म में पूजा-पाठ के वक्त पान के पत्तों का विशेष महत्व भी होता हैं। वही इसका उपयोग पूजा पाठ में भी किया जाता हैं। तो आज हम आपको पान के पत्तों से जुड़े कुछ खास टोटके और उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं।

  • पान के पत्तों का दान करने से व्यक्ति अपने सभी पापों से मुक्ति पा सकता हैं और जीवन को सुख-समृद्धि मिलेगी। क्योंकि व्यक्ति के पापों का नाश हो जाने के बाद व्यक्ति का भाग्य खुल जाता हैं और वह अपने जीवन में सुख और समृद्धि को प्राप्त कर सकता हैं। उसका जीवन खुशियों से भर जाता हैं। साथ ही सभी परेशानियां भी दूर हो जाती हैं।
  • पान के पत्ते से लाभ पाने के लिए आपको अपनी जेब में पान का पत्ता, खीरा या फिर धनिया रख सकते हैं। इन्हें अपनी जेब में रखने के बाद घर से निकलें। माना जाता है कि जिस भी कार्य के लिए आप जा रहे हैं वह शुभ होता है।
  • कई बार ऐसा होता हैं कि आपके बनते हुए काम बिगड़ जाते हैं फिर आप परेशान होने लगते हैं। तो अपने बनते हुए काम पुरे करने के लिए आप एक पान का पत्ता अपने जेब में डालकर घर से जांए। ऐसा करने से आपके बिगड़े हुए काम बनने लगेगें।
  • यदि आपको घर में लड़के वाले देखने आते हैं और आप रिश्ता पक्का करना चाहते हैं तो लड़की पान के पत्ते की ढंडी को घिस लें और उसका तिलक लगाएं। ऐसा करने से विवाह हेतु आए लोग आपकी तरफ आकर्षित हो जाएगें।
  • अगर आपको लगता है कि किसी ने तंत्र-मंत्र का प्रयोग कर आपके व्यापार को ठप्प कर दिया है तो आप शनिवार की सुबह पांच पीपल के पत्ते तथा 8 साबुत डंडी वाले पान के पत्ते लें। इन सभी पत्तों को एक ही धागे से पिरोकर दुकान अथवा कार्यस्थल पर पूर्व की ओर बांध दें। ऐसा लगातार पांच शनिवार करें। पुराने पत्तों को किसी कुएं अथवा नदी में बहा दें। इससे दुकान पर किया गया तंत्र-मंत्र निष्फल हो जाएगा और आपका काम फिर से दौड़ने लगेगा।
loading...
Loading...