इरफ़ान पठान ने क्रिकेट को कहा अलविदा

स्विंग के किंग इरफान पठान ने आज क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास की घोषणा कर दी। इरफान पठान ने स्टार स्पोट्र्स चैनल पर आधिकारिक तौर पर अपने रिटायरमेंट की घोषणा की। रिटायरमेंट की घोषणा करते हुए इरफान पठान ने कहा कि, आज मैं सभी तरह की क्रिकेट से संन्यास ले रहा हूं। यह मेरे लिए भावुक पल है, लेकिन यह ऐसा पल है जो हर खिलाड़ी की जिंदगी में आता है। छोटी जगह से हूं और मुझे सचिन तेंदुलकर और सौरभ गांगुली जैसे महान खिलाडिय़ों के साथ खेलने का मौका मिला, जिसकी हर किसी को तमन्ना होती है।

 

उन्होंने कहा कि मैं इस मुकाम पर पहुंचा इसके लिए मैं खुद को खुशकिस्मत मानता हूं। उन्होंने कहा कि मैंने सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली, वीरेंद्र सहवाग, गौतम गंभीर जैसे क्रिकेटरों के साथ ड्रेसिंग रूम शेयर किया ये मेरा नसीब था। उन्होंने अपने क्रिकेट फैंस का धन्यवाद अदा किया और कहा कि जो कुछ भी मिला अपने फैंस की वजह से ही मिला। ये वो फैंस ही थी जिन्होंने कभी भी किसी भी परिस्थिति में मेरा साथ नहीं छोड़ा। उनका दिल से शुक्रिया। इरफान ने आगे कहा, जिंदगी का सबसे खास लम्हा जब भारतीय टीम की कैप मिली, मैं क्या कोई भी क्रिकेटर उस लम्हे को नहीं भूल सकता, जब वह अपने देश का प्रतिनिधित्व करता है।

Loading...

 

पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट में हैट्रिक लेने वाला यह खिलाड़ी एक वक्त दिग्गज बल्लेबाजों के लिए खौफ हुआ करता था। गेंद को दोनों तरफ स्विंग करना इरफान का सबसे बड़ा हथियार रहा। इरफान पठान नीली जर्सी में भारत के लिए खेलते हुए आखिरी बार 2 अक्टूबर 2012 में दिखे थे।  बाएं हाथ के इस गेंदबाज ने भारत के लिए 29 टेस्ट, 120 वनडे और 24 टी-20 खेले। इसमें उन्होंने 301 विकेट लिए। वहीं, पठान ने एक शतक और 11 अर्धशतकों की बदौलत 2821 रन बनाए। पठान ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2003 में टेस्ट डेब्यू किया था। उन्होंने 2012 में श्रीलंका के खिलाफ आखिरी मैच खेला था। फिलहाल वे जम्मू-कश्मीर क्रिकेट टीम के कोच और मेंटर हैं।

loading...
Loading...