इटली में मचा हाहाकार, लाशों को दफनाने के लिए सेना ने संभाला मोर्चा

कोरोना वायरस के कारण इटली में मरने वालों की संख्या चीन से अधिक हो गई है। बृहस्पतिवार को इटली में 427 और लोगों की मौत के साथ इस विषाणु से मरने वालों की कुल संख्या 3405 तक पहुंच गई है। यहां कोरोना वायरस का पहला मामला फरवरी में सामने आया था। चीन में पिछले वर्ष दिसम्बर में कोरोना वायरस के संक्रमण का पहला मामला सामने आने के बाद से आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक वहां 3245 लोगों की मौत हुई है। हालत यह है कि लाशों को दफनाने के लिए सेना को बुलाना पड़ा है।

सबसे ज्‍यादा प्रभावित शहर बेरगामो शहर में हालत यह हो गई कि लोगों की लाशों को दफनाने में समस्‍या आने लगी। इस संकट के लिए सेना को बुलाया गया। सेना के वाहनों में दर्जनों लाशों को रखा गया और फिर उन्‍हें दफनाने के लिए शहर से बाहर अन्‍य जगहों पर ले जाया गया।

Loading...

इटली में लाशें इ‍तनी ज्‍यादा हैं कि उनका अंतिम संस्‍कार नहीं हो पा रहा है। इसी वजह से उन्‍हें चर्च के अंदर बने कब्रगाह में ले जाया गया है। लाशों के ताबूतों से दो अस्‍पताल भरे हुए हैं। जिन लोगों की मौत हुई है, उनके करीबियों को जाने की अनुमति दी जा रही है लेकिन बहुत ही कम संख्‍या में और बहुत दूरी से ताकि वायरस का संक्रमण न फैले।

गौरतलब है कि यूरोपियन देश कोरोना वायरस के संक्रमण पर काबू पाने के लिए जूझ रहे हैं। वहीं चीन में संक्रमण पर इस हद तक काबू पा लिया है कि संक्रमण का एक भी नया मामला सामने नहीं आया है। वहीं गुरुवार को इटली के प्रशासन ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले 35,713 से बढ़कर 41,035 हो चुके हैं। इटली में संक्रमण के नए मामलों में 15 फीसदी का इजाफा हुआ है।

loading...
Loading...